राहुल का बयान सरकार की साख पर बट्टा

  • 28 सितंबर 2013

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने 'दांग़ी सांसदों और विधायकों' पर लाए गए यूपीए सरकार के अध्यादेश को 'बकवास' करार देते हुए कहा है कि इसे फ़ाडकर फेंक देना चाहिए.

यूपीए सरकार कुछ दिन पहले अध्यादेश लेकर आई है जिसमें कहा गया है कि कुछ शर्तों के तहत अदालत में दोषी पाए जाने के बाद भी सांसदों और विधायकों को अयोग्य क़रार नहीं दिया जा सकेगा.

तो ऐसे समय में जब प्रधानमंत्री देश से बाहर हैं, ऐसे कड़े शब्दों में उस अध्यादेश को खारिज करना जिसे कांग्रेस की सहमति थी, क्या संकेत देते हैं.

क्या प्रधानमंत्री की साख को इससे धक्का लगा या कांग्रेस पार्टी को इससे फायदा होगा.

क्या इस अध्यादेश को लेकर बढ़ रहे जन आक्रोश को भांपते हुए काग्रेंस पार्टी की ये सोची समझी रणनीति थी या राहुल गांधी आवेश में आकर बोल गए.

आपको क्या लगता है

इस शनिवार 28 सितबंर को बीबीसी इंडिया बोल में इसी विषय पर होगी चर्चा.

अगर आप कार्यक्रम में हिस्सा लेना चाहते हैं तो मुफ्त फोन करे 1800 11 700 या 1800 102 7001 पर.

आप अपना फोन नम्बर इस पते भी भी मेल कर सकते हैं bbchindi.indiabol@gmail.com

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार