भूख हड़ताल कर रहे जगनमोहन को अस्पताल ले गई पुलिस

  • 10 अक्तूबर 2013
जगन मोहन रेड्डी

आंध्र प्रदेश से अलग तेलंगाना के गठन का विरोध कर रहे वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है.

हैदराबाद के पुलिस उपायुक्त (पश्चिमी ज़ोन) वी सत्यनारायण ने बताया, "हमने डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें निज़ाम इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज़ में भर्ती कराया है."

रात क़रीब 11 बजे पुलिस की एक टीम हैदराबाद के जुबली हिल्स इलाक़े में स्थित उनके निवास पर पहुँची और फिर उन्हें उठाकर एम्बुलेंस में अस्पताल में ले गई.

पुलिस कार्रवाई के समय जगन समर्थकों ने कोई प्रतिरोध नहीं किया.

जगनमोहन रेड्डी पिछले पाँच दिनों से भूख हड़ताल पर थे और उनकी हालत बिगड़ती जा रही थी.

हाल ही में जगनमोहन रेड्डी को आय से अधिक संपत्ति के मामले में 16 महीने बाद ज़मानत मिली है और वे जेल से बाहर आए थे.

भूख हड़ताल

तेलंगाना गठन को कैबिनेट की मंज़ूरी मिलने के बाद जगनमोहन रेड्डी ने भूख हड़ताल करने का फ़ैसला किया था.

बुधवार को उनकी जाँच करने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें सलाह दी थी कि उन्हें अपनी भूख हड़ताल ख़त्म कर देनी चाहिए, क्योंकि उनके शरीर में शुगर का स्तर कम हो रहा है और पानी की भी कमी है.

उनकी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता कोन्ताला रामकृष्ण ने पत्रकारों को ये जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि जगनमोहन रेड्डी ने सभी पार्टियों से अपील की है कि वे राजनीतिक हित छोड़कर राज्य को एकीकृत रखने के लिए हाथ मिलाएँ.

जगनमोहन रेड्डी पाँच अक्तूबर से अनिश्चिकालीन भूख हड़ताल पर थे.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार