वॉलमार्ट और भारती की राहें अलग

  • 9 अक्तूबर 2013
वालमार्ट
Image caption वालमार्ट ने भारती के साथ 2007 में एक संयुक्त उपक्रम शुरू किया था.

अमरीका की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वॉलमार्टे और भारतीय कंपनी भारती एंटरप्राइज़ेज़ ने अपने संयुक्त कारोबार भारती वॉलमार्ट प्राइवेट लिमिटेड को भंग करने का फैसला किया है.

दोनों कंपनियों ने बुधवार को एक संयुक्त वक्तव्य जारी करते हुए इस निर्णय की जानकारी दी.

जारी किए गए बयान में वॉलमार्ट एशिया के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्कॉट प्राइस ने कहा, "वर्तमान हालात में स्वतंत्र रूप से काम करने का निर्णय दोनों कंपनियों के लिए लाभकारी होगा."

भारती वॉलमार्ट प्राइवेट लिमिटेड भारत में 'बेस्ट प्राइस मॉडर्न होलसेल' नाम से 20 स्टोर चलाती थीं.

भारती की हिस्सेदारी

अलग होने के क़रार के तहत वॉलमार्ट इस कंपनी में भारती एंटरप्राइज़ेज़ के हिस्से के 50 प्रतिशत शेयर ख़रीदेगी.

इस तरह इस कंपनी पर वॉलमार्ट का पूर्ण स्वामित्व हो जाएगा. वॉलमार्ट इन 20 स्टोर को अकेले ही चलाएगी.

Image caption भारती एंटरप्राइजेज अपने 212 स्वतंत्र स्टोर का संचालन करता रहेगी.

दूसरी तरफ़ भारती एंटरप्राइज़ेज़ इन स्टोर के अतिरिक्त 'ईज़ी डे' नामक स्टोर संचालित करता है.

'ईज़ी डे' के पूरे भारत में कुल 212 स्टोर हैं. भारती एंटरप्राइज़ेज़ इन स्टोर का अकेले संचालन करती रहेगी.

भारती एंटरप्राइज़ेज़ की मूल कंपनी भारती एयरटेल भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है.

भारती एंटरप्राइज़ेज़ ने 2007 में रिटेल क्षेत्र की दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी वॉलमार्ट के साथ मिलकर एक संयुक्त कारोबार शुरू किया था.

भारत सरकार ने 2013 में विदेशी सुपरमार्केट कंपनियों को भारत में अपने स्थानीय उपक्रमों में 51 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखने की इजाज़त दी थी लेकिन किसी भी कंपनी ने इस निर्णय के बाद भारत में निवेश के लिए आवेदन नहीं किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार