मध्य प्रदेशः मतदान संपन्न, हिंसा में दो की मौत

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव

मध्य प्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए मतदान संपन्न हो चुके हैं. राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र की वेबसाइट पर मौजूद आंकड़ों के अनुसार मध्य प्रदेश में 70.15 प्रतिशत मतदान हुआ है. चुनाव के दौरान हुई हिंसा में दो व्यक्तियों की मौत हो गई है.

बीबीसी संवाददाता के अनुसार मुरैना ज़िले के सुमावली विधानसभा क्षेत्र में एक मतदान केंद्र पर सुरक्षाकर्मियों की गोली से भूरे सिंह कनसाना की मौत हो गई.

भूरे सिंह पर आरोप है कि वो मतदान के दौरान ईवीएम मशीन लूटकर भागने की कोशिश कर रहे थे. भूरे सिंह कनसाना कांग्रेस के विधायक ऐदल सिंह कनसाना के भतीजे हैं.

स्थानीय पत्रकार ऋषि पाण्डे के अनुसार खरगौन ज़िले के कसरावद विधानसभा क्षेत्र में मतदान संपन्न होने के आधा घंटा पूर्व कांग्रेस और भाजपा के समर्थक आमने-सामने आ गए. इस दौरान हुए पथराव औऱ आपसी झड़प में कालू यादव नाम के एक व्यक्ति की मौत हो गई. इस झड़प में कुछ लोग घायल भी हुए हैं.

स्थानीय पत्रकार ने बीबीसी को बताया किकुछ जगहों पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों में खराबी के कारण मतदान में आई रुकावट के मद्देनजर मतदाताओं को वोट देने के लिए अतिरिक्त समय दिया गया.

नक्सल प्रभावित बालाघाट ज़िले में सुबह सात बजे मतदान शुरू हो गया था. यहाँ 62 प्रतिशत वोट पड़े हैं.

महू विधानसभा सीट पर बीजेपी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच आपस में झड़प हुई.

भिण्ड और मुरैना ज़िले की कुछ विधानसभा सीटों पर हिंसक वारदाते हुई हैं.

कहीं गोली, कहीं बहिष्कार

स्थानीय पत्रकार ऋषि पाण्डे ने कहा कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान 16 मतदान केंद्रों पर एक भी वोट नहीं पड़ा.

मध्य प्रदेश में हो रहे मतदान के दौरान कुछ जगहों से विकास के मुद्दे पर चुनाव का बहिष्कार करने की घटनाएं सामने आई हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ मध्य प्रदेश की आठ विधानसभा सीटों पर मतदाताओं ने ख़राब रोड का हवाला देते हुए चुनाव का बहिष्कार किया.

उमारिया, रतलाम, मुरैना, राजगढ़ और बैतूल ज़िलों में मतदाताओं ने चुनाव का बहिष्कार किया. अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी वीए एल कांता रॉव ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि हमने मतदाताओं को मतदान के लिए राजी करने का प्रयास किया. कुछ जगहों पर वे मतदान करने के लिए आए भी.

राज्य के 13 ज़िलों में लगभग 20 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी की शिकायत मिली. इसके कारण मतदान देर से शुरू हुआ.

जिन मतदान केंद्रों पर ऐसी गड़बड़ी की शिकायतें आईं थी वहां मतदाताओं को मतदान करने के लिए अतिरिक्त समय दिया गया.

मंत्री पर पैसे बाँटने का आरोप

बीबीसी संवाददाता के अनुसार धार ज़िले की मनावट विधानसभा क्षेत्र से विधायक और भाजपा सरकार में महिला और बाल विकास मंत्री रंजना बघेल पर मतदाताओं को पैसे बाँटने के आरोप लगे.

इससे संबंधित एक वीडियो सामने आने के बाद उनके ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज़ हो गई है और जाँच जारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार