दोबारा चुनाव लड़ने को तैयार: अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी ने बुधवार को देश की राजधानी दिल्ली में मौजूद जंतर-मंतर पर विधानसभा चुनावों में मिली अप्रत्याशित जीत के बाद धन्यवाद रैली आयोजित की.

इस मौके पर आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा, "यह जीत पार्टी की नहीं बल्कि आम आदमी की है और आम आदमी की इस लड़ाई को बहुत आगे लेकर जाना है."

उन्होंने कहा कि आप से जुड़ा हर व्यक्ति "बधाई का पात्र है." साथ ही उन्होंने पार्टी के कामों में लगे लोगों के परिवारों को भी बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह चुनाव हमने नहीं देश ने जीता है."

केजरीवाल ने कहा, "यह चुनाव अरविंद का नहीं, प्रशांत का नहीं, देश के लोगों का था." उन्होंने कहा कि "देश में बहुत से लोगों नेताओं को भ्रम हो गया था कि वे देश को तोड़ सकते हैं."

घमंड में न आएं

उन्होंने कहा, "इन चुनावों में बहुत से लोग अपना घर बार छोड़ कर आए हैं, उन्हें कुछ आशा दिखी, उन्हें उम्मीदें जगीं की देश बदल सकता है, जिन्दगी बदल सकती है."

केजरीवाल ने अपनी पार्टी के विजयी विधायकों को नसीहत देते हुए कहा, "वे इस जीत से किसी तरह के घमंड में न आएं. इन चुनावों में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का अंहकार तोड़ा है. यहां बड़े-बड़े दिग्गजों के सिंहासन उलट गए."

उन्होंने अपने विधायकों से कहा कि उनको देश की जनता की सेवा करनी है.

जीत का जश्न मनाए जाने को लेकर केजरीवाल ने कहा कि आखिर किस चीज का, किस बात का जश्न मनाना है, जब तक देश में भूखमरी है, किसी तरह का जश्न नहीं मनाया जाएगा."

कांग्रेस-भाजपा बनाए सरकार

केजरीवाल ने कहा कि "चुनावों के दौरान कई तरह के हथकंडे अपनाए गए. पैसे का खूब खेल चला, दारू बांटी गई. लेकिन जिस तरह से ये पार्टियां 65 सालों तक हमें धोखा देती आईं, हमारे मतदाताओं ने भी उन्हें धोखा दिया. उन्होंने कहा कि "चुनाव परिणामों के बाद ये पार्टियां बौखल्ला गई हैं.

भाजपा पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि "सौ-सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली. उनके पास 32 विधायक होने के बावजूद भाजपा सरकार बनाने से इनकार कर रही है. भाजपा का कहना है कि हम किसी तरह की जोड़-तोड़ नहीं करेंगे."

एक बार अपनी बात फिर दोहराते हुए केजरीवाल ने कहा, "कांग्रेस और भाजपा को मिल कर सरकार बनानी चाहिए. क्योंकि दोनों में बहुत सी समानताएं हैं. दोनों भ्रष्ट है, साम्प्रदायिक हैं, दंगे करवाती हैं."

दोबारा चुनाव को तैयार

केजरीवाल ने कहा कि "अगर जरूरत पड़ेगी तो उनकी पार्टी दोबारा चुनाव लड़ने को तैयार है." उन्होंने कहा कि "हम सत्ता भोगने को नहीं, व्यवस्था परिर्वतन के लिए आए हैं."

धन्यवाद रैली के मौके पर हजारों की संख्या में आप समर्थक जंतर-मंतर पहुंचे.

इस मौके पर योगेन्द्र यादव ने कहा, "हम लोगों ने विधानसभा चुनाव के दौरान घर-घर जा कर चुनाव प्रचार किया. उन्होंने कहा कि आप देश की पहली पार्टी थी, जिसने नैतिक आधार पर अपने उम्मीदवार को वापस लिया."

उन्होंने कहा कि "अभी हमें बहुत तक जाना है." उन्होंने देश के दूसरे हिस्सों में भी चुनाव लड़ने की संभावना जताई.

लोकपाल के मुद्दे पर अन्ना हजारे के अनशन को लेकर उन्होंने कहा कि "हम अन्ना के साथ हैं. मैं कुमार विश्वास के साथ रालेगण सिद्धी जा रहा हूं अन्ना जी से मिलने.

(बीबीसी हिंदी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार