'अन्ना जब चाहेंगे, सब कुछ छोड़कर आ जाएँगे'

अन्ना हज़ारे रालेगण सिद्धि

जनलोकपाल कानून के लिए रालेगण सिद्धि में जारी अन्ना हज़ारे के अनशन में आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल तो नहीं पहुंचे, लेकिन उनकी टीम के सदस्य कुमार विश्वास, संजय सिंह और गोपाल राय पहुंचे.

कुमार विश्वास ने मंच से भाषण देते हुए अन्ना हज़ारे के प्रति पूरी श्रद्धा और विश्वास जताते हुए कहा कि जब अन्ना चाहेंगे टीम केजरीवाल सब कुछ छोड़कर आ जाएगी.

इसके साथ ही गोपाल राय ने शुक्रवार से अन्ना के समर्थन में अनशन करने का ऐलान भी किया.

कुमार विश्वास ने आप को अन्ना का समर्थन (आशीर्वाद) मिलने का दावा करते हुए टीम केजरीवाल पर अन्ना को धोखा देने का आरोप लगाने वाले राजनीतिक दलों पर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि ऐसा आरोप लगाने वाले राजनीतिक दलों को यहां सभा में होना चाहिए था या फिर अपने-अपने राज्यों में जनलोकपाल बिल पास करवाना चाहिए था.

विश्वास ने अन्ना के मंच से कहा कि वह किसी भी राजनीतिक दल से समझौता नहीं करेंगे और जनलोकपाल की लड़ाई को जारी रखेंगे.

मंच से नीचे सभास्थल पर बैठे टीम केजरीवाल सदस्य गोपाल राय ने कहा कि उन्होंने अन्ना का साथ कभी नहीं छोडा है और जनलोकपाल के लिए संघर्ष जारी रहेगा.

दिल्ली में अनशन करने के सवाल को गोपाल राय टाल गए और कहा कि हम यहां हैं तो यहीं अनशन करेंगे.

अन्ना, केजरीवाल में बात

पत्रकारों से बातचीत करते हुए कुमार विश्वास ने कहा कि अन्ना ने आम आदमी पार्टी को चुनाव जीतने के लिए आशीर्वाद दिया.

विश्वास के मुताबिक अन्ना ने कहा कि जितनी सीटें मिली हैं, उतनी की उम्मीद नहीं थी. इससे माना जा सकता है कि जागरण आ गया है. ऐसा ही चलता रहे तो अच्छे कानून बनेंगे.

बकौल विश्वास अन्ना ने इस बात पर हर्ष जताया कि कि आप ने चुनाव में शराबबंदी करवाई और बहुत से दलित, पिछड़े वर्गों के उम्मीदवार भी चुनाव जीते.

अरविंद केजरीवाल और अन्ना के बीच मतभेद के सवालों पर विश्वास ने कहा कि अरविंद और अन्ना की फ़ोन पर लंबी बात हुई है.

अन्ना ने केजरीवाल से कहा कि तुम्हें अभी बड़ी लड़ाई लड़नी है, अभी स्वास्थ्य ख़राब मत करो.

अरविंद ने कहा कि अन्ना अनशन तोड़ने का आग्रह किया. अन्ना ने कहा कि राज्यसभा में बिल आ रहा है उसे देखते हैं और फिर आगे फ़ैसला करेंगे.

कुमार विश्वास ने दोहराया कि जंतर मंतर, रामलीला मैदान में जो बिल पास हुआ था वैसा ही पास होना चाहिए. अगर राजनीतिक दल इसमें फेरबदल करेंगे तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

Image caption अरविंद केजरीवाल 'बुखार' होने के चलते रालेगण सिद्धि नहीं पहुंचे

दरअसल अरविंद केजरीवाल के 'बुखार की वजह से' अन्ना हजारे के अनशन में शामिल न हो पाने की वजह से आप पार्टी की ओर से कुमार विश्वास, गोपाल राय और संजय सिंह रालेगण सिद्धि पहुंचे हैं.

कुमार विश्वास ने कहा कि आप की ओर से गोपाल राय रालेगण सिद्धि में अन्ना का अनशन जारी रहने तक रहेंगे.

गोपाल राय ने कहा कि वह कल अनशन शुरू कर रहे हैं और जब तक अन्ना अनशन पर रहेंगे तब तक वह भी अनशन पर रहेंगे.

पूर्व पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता किरण बेदी भी अन्ना को समर्थन देने के लिए बुधवार को रालेगण सिद्धि पहुंचीं. किरण बेदी ने यह भी कहा कि अगर संसद में जन लोकपाल विधेयक पास नहीं हुआ तो शनिवार से वो भी अन्ना के साथ अनशन शुरू कर देंगी.

सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर भी गुरुवार को अन्ना के अनशन को समर्थन देने के लिए रालेगण सिद्धि जाएंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार