देवयानी मामला: जैसे के साथ तैसा?

अमरीका के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन

हथकड़ी, जामा तलाशी और अपराधियों के साथ कुछ वक्त सलाखों के पीछे बिताने के बाद भारतीय राजनयिक देवयानी खोबरागड़े अमरीका से भारत वापस लौट चुकी हैं. देवयानी पर वीज़ा धोखाधड़ी और अपनी घरेलू कामगार को कम मेहनताना देने जैसे गंभीर आरोप लगे.

देवयानी ने आरोपों से इंक़ार किया और भारत सरकार ने भी उनका बचाव किया. भारत में अमरीकी राजनयिकों को मिलने वाली सुविधाओं में कटौती कर दी गई, दिल्ली में अमरीकी दूतावास के बाहर सुरक्षा के लिए खड़े किए गए अवरोधक हटवा दिए और कई ऐसे क़दम उठाए जिससे अमरीका भी सन्न रह गया.

उधर देवयानी अमरीका से भारत रवाना हुईं और इधर भारत सरकार ने अमरीका से कह दिया कि वो दिल्ली से अपने वरिष्ठ अधिकारी को वापस बुला ले. जिस अमरीकी अधिकारी को भारत वापस भेज रहा है वो देवयानी खोबरागड़े के स्तर का ही अधिकारी है.

तो क्या ये भारत की बदले की कार्रवाई है, क्या भारत 'जैसे के साथ जैसा' वाली कहावत चरितार्थ कर रहा है?

इस मामले से क्या दोनों देशों के रिश्ते दरकने लगे हैं.

बताइए अपनी राय बीबीसी इंडिया बोल में इस शनिवार यानी 11 जनवरी को शाम साढ़े सात बजे.

तो शामिल हों इस कार्यक्रम में और आप अपने सवाल हमें bbchindi.indiabol@gmail.com पर भेज सकते हैं.

कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मुफ़्त फोन करें. 1800-11-7000 और 1800-10-27001 पर.