राजस्थान: सांप्रदायिक हिंसा में तीन की मौत

सांप्रदायिक हिंसा,कर्फ़्यू इमेज कॉपीरइट AP

राजस्थान के प्रतापगढ़ में सांप्रदायिक हिंसा के बाद अनिश्चित समय के लिए कर्फ़्यू लगा दिया गया है. ये संघर्ष आदिवासी बहुल ज़िले प्रतापगढ़ के कोटड़ी कस्बे में हुआ है.

प्रतापगढ़ के पुलिस अधिक्षक यू एन छानवाल ने स्थानीय पत्रकार नारायण बारेठ को बताया, "हिंसा में तीन लोग मारे गए हैं."

प्रतापगढ़ जयपुर से करीब 432 किलोमीटर है और इसकी सीमा मध्य प्रदेश से लगती है.

पुलिस अधिकारियों के अनुसार ये झगडा कल रात कोटड़ी में उस समय हुआ जब एक संगठन के कार्यकर्ता एक कार्यक्रम में हिस्सा लेकर लौट रहे थे.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मोटर साइकलों पर आए एक समुदाय के लोगों ने उन पर फ़ायरिंग की और भाग निकले. भागते हुए लोगों को पास के गांव में रोकने की कोशिश की गई तो वहां भी उन्होंने फ़ायरिंग की. इसके बाद लोग उत्तेजित हो गए और दस घरों में आग लगा दी.

इस हमले में कोटड़ी के राजा नामक एक व्यक्ति की मौत हो गई. इसके बाद हालात और बिगड़ गए और आधी रात को कोटड़ी में कर्फ़्यू लगा दिया गया. गंभीर रूप से घायल आठ लोगों को उदयपुर भेजा गया है इनमें से दो की मौत हो गई है. मरने वालों की कुल संख्या तीन हो गई है.

प्रशासन और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी हिंसा की जगह पहुंच गए हैं और इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. आस-पास के पांच ज़िलों की पुलिस इलाके में बुलाई गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार