सुनंदा के शव पर चोटों के निशान: एम्स

सुनंदा पुष्कर, एम्स इमेज कॉपीरइट AFP

सुनंदा पुष्कर के शव का पोस्टमॉर्टम करने वाले दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों ने कहा है कि सुनंदा की मौत ‘सडन अननेचुरल डेथ’ यानी अचानक और अप्राकृतिक थी.

एम्स के डॉक्टरों का कहना है कि सुनंदा पुष्कर के शरीर पर चोटों के निशान मिले हैं. हालांकि डॉक्टरों ने अभी इन चोटों के बारे में किसी भी तरह की जानकारी देने से इनकार किया है. डॉक्टरों का कहना है कि वे अगले दो-तीन दिन में अपनी जांच रिपोर्ट पूरी कर एसडीएम को सौंप देंगे.

सुनंदा पुष्कर शुक्रवार रात दिल्ली के होटल लीला के एक कमरे में मृत पाई गईं थीं.

उनके शव का शनिवार सुबह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में पोस्टमॉर्टम किया गया. पोस्टमॉर्टम और मौत के कारणों की जांच के लिए एम्स ने एक बोर्ड बनाया है. इसमें फ़ॉरेंसिक मेडिसिन विभाग के प्रमुख डॉक्टर सुधीर गुप्ता के अलावा डॉक्टर आदर्श कुमार और डॉक्टर शशांक पूनिया शामिल हैं.

डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने मीडिया से बातचीत में कहा, "सुनंदा पुष्कर के शव पर चोटों के निशान मिले हैं. मैं अभी चोटों की प्रकृति के बारे में कुछ नहीं बता सकता. चूंकि जांच एजेंसी इस केस पर काम कर रही है और कुछ ख़ास मुद्दे हैं."

'मजिस्ट्रेट से जानकारी मांगी'

सुनंदा की मौत की जांच कर रही टीम के चेयरमैन डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने कहा है कि शव की टॉक्सिकोलॉजिकल और हिस्टोपैथोलॉजिकल जांच भी चल रही है. इनके नतीजे आने के बाद ही कोई निष्कर्ष निकाला जा सकता है.

सुनंदा के शरीर पर कितनी चोटें हैं, यह जानकारी भी डॉक्टरों ने नहीं दी है.

हालांकि डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने कहा, "मेडिको लीगल मामलों में चोट की तादाद अहमियत नहीं रखती. हां, ये चोटें कितनी घातक हैं, यह बात अहमियत रखती है. और यह बात टॉक्सिकोलॉजी और हिस्टोपैथोलॉजी रिपोर्ट का हिस्सा है. इसलिए उनके मिलने के बाद ही आख़िरी तौर पर कोई राय दी जा सकती है."

एम्स के डॉक्टरों ने बताया कि उन्होंने सुनंदा पुष्कर के शव के बायोलॉजिकल सैंपल लिए हैं, जिनकी जांच हो रही है. डॉक्टरों के मुताबिक़ उनकी जांच का केंद्रबिंदु यह है कि यह 'सडन अननेचुरल डैथ' का केस है. डॉक्टरों की जांच टीम ने इस सिलसिले में मजिस्ट्रेट से भी कुछ जानकारी मांगी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार