नीडो तनियम मामला: दिल्ली पुलिस ने किया विशेष जांच दल का गठन

नीडो तनियन इमेज कॉपीरइट

अरूणाचल प्रदेश के छात्र नीडो तनियम की मौत के मामले में दिल्ली पुलिस ने विशेष जांच दल का गठन किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने दिल्ली पुलिस के हवाले से कहा है कि ये जांच दल सीधे उप पुलिस कमिश्नर पी करूणाकरण की देख रेख में काम करेगा. पुलिस इस मामले में अबतक तीन लोगों को गिरफ़्तार कर चुकी है.

एक पुलिस अधिकारी के हवाले से समाचार एजेंसी ने कहा है कि इस मामले में छह लोगों की शिनाख्त हो चुकी है जिसमें से तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

एक बयान में दिल्ली पुलिस ने उस आरोप से भी इंकार किया है कि पुलिस ने तनियम को घटनास्थल पर छोड़ दिया था जिसके बाद दुकानदारों ने फिर से उनकी पिटाई की.

राहुल गांधी

ये आरोप तनियम के कुछ दोस्तों और ख़ानदान वालों ने लगाई है.

नीडो तनियम की मौत दिल्ली के लाजपत नगर इलाक़े में कथित तौर पर कुछ दुकानदारों की पिटाई के बाद हो गई थी. जिसके बाद उनके मित्र और परिवार वाले पुलिस पर कई तरह के आरोप लगा रहे हैं.

पुलिस ने कहा है कि वो मेडिकल रिपोर्ट का भी इंतज़ार कर रही है.

इस बीच पिछले कई दिनों से दिल्ली में पूर्वोतर के छात्रों और वहां के मूल निवासियों का दिल्ली में विरोध प्रदर्शन जारी है. इसी तरह के सोमवार को हो रहे एक धरने में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी जहां पहुंचे.

न्यायिक जांच

केंद्र में अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री निओंग इरिंग ने कहा है कि राहुल गांधी ने गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे से कहा कि वे नीडो तनियन की मौत के मामले में न्यायिक जांच करवाएं और परिवार को सुरक्षा मुहैया करवाएं.

18 वर्षीय नीडो तनियन के परिजनों और मित्रों के अनुसार बुधवार को दिल्ली के लाजपत नगर में कुछ दुकानदारों ने नीडो और उसके दोस्त की कथित तौर पर पिटाई की थी जिसके बाद नीडो की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. आरोप है कि दुकानदारों ने छात्र के बाल और पहनावे को लेकर टिप्पणियाँ भी की थीं.

अरुणाचल प्रदेश से आने वाले इरिंग ने पीटीआई को बताया, "राहुल जी ने हम सबके सामने शिंदे से बात की और इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई करने को कहा. चूंकि गृहमंत्री अभी दिल्ली से बाहर हैं इसलिए उन्होंने कहा कि वे कल दिल्ली वापस आते ही इस मामले में जो भी जरूरी कार्रवाई होगी उसे करेंगे."

केस दर्ज

उन्होंने कहा कि वे छात्रों के प्रतिनिधि मंडल के साथ मंगलवार को गृहमंत्री से मुलाकात करेंगे. वे उनसे नीडो की हत्या के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के साथ ही देश के विभिन्न भागों, खासकर दिल्ली में उत्तर पूर्व के लोगों की सुरक्षा की मांग करेंगे.

केंद्र सरकार ने आज दिल्ली पुलिस को आदेश दिया कि वह उत्तर-पूर्व के लोगों पर हो रहे हमलों पर सख्त कार्रवाई के आदेश दे. साथ ही यह भी निर्देश दिया कि दिल्ली पुलिस इस क्षेत्र के लोगों की सुरक्षा के लिए बने नियमों का पालन करने में कोई ढील न बरते.

एक उच्च स्तरीय बैठक में गृहमंत्री ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया है कि वह उत्तर पूर्व के लोगों पर होने वाले किसी भी अत्याचार के मामले में केस तुरंत दर्ज करे.

दिल्ली हाईकोर्ट ने भी मीडिया की रिपोर्टों पर स्वतः संज्ञान लेते हुए केंद्र से मामले पर तुरंत रिपोर्ट करने को कहा है.

इससे पहले छात्र की मौत से गुस्साए पूर्वोत्तर के छात्रों ने शनिवार को अपनी मांगों को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की थी. मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया है कि मौत के लिए जिम्मेदार लोगों को 'कड़ी से कड़ी सजा' दी जाएगी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार