एसयूवी, छोटी कारें, मोटरसाइकिलें सस्ती: अंतरिम बजट

  • 17 फरवरी 2014
कारें होंगी सस्ती इमेज कॉपीरइट AFP

वित्त मंत्री पी चिदंबरम तेलंगाना मुद्दे पर हंगामे के बीच लोकसभा में अंतरिम बजट पेश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष का राजकोषीय घाटा 4.6 प्रतिशत तक सीमित रहेगा. चालू वित्तीय घाटे में कमी आई है और इसके 45 अरब डॉलर रहने की संभावना है.

वित्त मंत्री ने कहा, "ख़राब वैश्विक संकट से हमने ख़ुद को बचाया है और भारत के हालात बेहतर हुए हैं. चालू वित्तीय घाटे में कमी आई है."

बीएसई सेंसेक्स का हाल जानने के लिए यहां क्लिक करें

एनएसई के सूचकांकों का हाल जानने के लिए यहां क्लिक करें

यूपीए सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा, "कृषि विकास की दर 4.6 फ़ीसदी रही. निर्यात बढ़ा है, जबकि आयात में कुछ कमी आई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा, "निर्यात बढ़कर 326 अरब डॉलर हो गया है. निवेश में कोई बड़ी गिरावट नहीं आई है."

बजट के मुख्य अंश

  • प्रस्तावित प्लान ख़र्च 5.55 लाख करोड़ होगा
  • प्रस्तावित ग़ैर प्लान ख़र्च 12.07 लाख करोड़ होगा
  • प्रस्तावित रक्षा ख़र्च 10 प्रतिशत बढ़ाकर 2.24 लाख करोड़ रखा गया है
  • लंबे समय से रिटायर्ड सैन्य कर्मचारियों की मांग - वन रैंक, वन पे - मान ली गई है और ये 2014-15 से लागू होगी. रक्षा मंत्रालय इस उद्देशय से 500 करोड़ रूपए तत्काल देगा.
  • जो छात्र कर्ज़ नहीं चुका पाए हैं, उनके ब्याज पर फ़िलहाल रोक लगाई गई है और इन्हें एक जनवरी 2014 से ही ब्याज देना होगा
  • इससे नौ लाख छात्रों को फ़ायदा होगा और सरकार के लिए ये ख़र्च 2600 करोड़ होगा
  • 57 करोड़ लोगों ने अधार नंबर ले लिए हैं

सामान्य प्रतिक्रिया

वित्त मंत्री के बजट भाषण पर बाज़ार ने सामान्य प्रतिक्रिया दी. वित्तीय घाटा 4.6 प्रतिशत के स्तर पर रहने और आने वाली तिमाहियों में विकास दर में सुधार के अनुमानों से बाज़ार को ताक़त मिली.

सोमवार को लोकसभा में वित्त मंत्री ने जब अपने बजट भाषण की शुरुआत की तो बीएसई सेंसेक्स सूचकांक महज़ सात अंकों की तेज़ी के साथ कारोबार कर रहा था, हालांकि वित्तीय घाटे में कमी की ख़बर के साथ ही इसमें क़रीब 40 अंकों की तेज़ी दर्ज की गई.

इस दौरान बढ़त दर्ज करने वाले शेयरों में टाटा पावर, डा. रेड्डीज़् और एचडीएफ़सी शामिल रहे.

वित्तमंत्री ने जुलाई, 2014 तक के ख़र्चों की अनुमति के लिए लोकसभा में हंगामे के बीच लेखानुदान पेश किया.

अंतरिम बजट में प्रत्यक्ष करों में कोई बदलाव नहीं होता है और न ही कोई बड़ी नीतिगत घोषणा की जाती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार