मोदी गैस के दाम पर रुख़ साफ़ करेंः केजरीवाल

इमेज कॉपीरइट AFP

आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर गैस के दाम पर रुख़ स्पष्ट करने कहा है.

शुक्रवार को मीडिया के सामने पत्र को सार्वजनिक करते हुए उन्होंने मोदी से सवाल किए और आग्रह किया कि वह इस बारे में अपनी राय सार्वजनिक करें.

उन्होंने इस पत्र की 10 करोड़ प्रतियां देश भर में बांटने की भी बात कही.

मोदी को संबोधित पत्र को पढ़ते हुए उन्होंने कहा, "गैस के दाम बढ़ाने की बात हो रही है. गैस से खाद बनती है और इसके दाम बढ़ने से खाने-पीने की चीजें भी महंगी हो जाएंगी. आप समझ सकते हैं कि गैस के दाम बढ़ने से देश में कितनी ज़्यादा महंगाई बढ़ जाएगी. आप और राहुल गांधी इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं?"

उन्होंने कहा, ''आप स्वयं प्रधानमंत्री की कुर्सी के दावेदार हैं. देश जानना चाहता है कि यदि आपकी सरकार बनती है तो क्या आप मुकेश अंबानी को आठ डॉलर के हिसाब से गैस के दाम देंगे या चार डॉलर की दर से दाम देंगे?''

उन्होंने कहा कि जब आम आदमी पार्टी ने इस संबंध में मुकेश अंबानी के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कराई तो भाजपा और कांग्रेस दोनों के नेताओं ने इसका घोर विरोध किया, क्या यह इसलिए हुआ क्योंकि मुकेश अंबानी के साथ उनके घनिष्ठ संबंध हैं?

फंड पर सवाल

अरविंद केजरीवाल कहा, ''आप और राहुल गांधी दोनों देश-विदेशों में घूमने के लिए निजी हेलिकॉप्टर और हवाई जहाज़ों का उपयोग करते हैं. ये हेलिकॉप्टर और हवाई जहाज़ किसके हैं?''

उन्होंने कहा, ''जनता में चर्चा है कि आपकी रैलियों में कई करोड़ ख़र्च होते हैं. यह सारा पैसा किसका है?''

पत्र में जनता से जुड़े अहम मुद्दे उठाए जाने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि मोदी चाहें तो इस पत्र का निजी तौर पर जवाब न दें लेकिन यदि इन मुद्दों पर सार्वजनिक रूप से अपना पक्ष रखेंगे तो लोगों का संदेह दूर हो जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को चिट्ठी शनिवार को लिखेंगे.

पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बिल्कुल यह राजनीति ही है.

उन्होंने कहा, "राजनीति गैस के दाम पर होनी चाहिए, धर्म के नाम पर नहीं. हम राजनीति के विमर्श को बदलना चाहते हैं."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार