मोदी, केजरीवाल और राहुल: बयानों के तीर

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

रविवार को उत्तर भारत के तीन राज्यों में कांग्रेस, भाजपा और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने जनसभाओं को संबोधित किया.

पंजाब के लुधियाना के जगराओं में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आम सभा को संबोधित किया.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में एबीसीडी कांग्रेस की पहचान बन गई है. जैसे, ए फॉर आदर्श घोटाला, बी फॉर बोफोर्स घोटाला और सी फॉर कोयला घोटाला.

मोदी ने कहा, 'जब राजीव गांधी देश में राज कर रहे थे तो पंचायत से लेकर पार्लियामेंट तक उनका राज था. तब राजीव गांधी ने कहा था कि दिल्ली से एक रुपया निकलता है तो गांव तक पहुंचते पहुंचते 15 पैसे हो जाता है. मैं पूछना चाहता हूं कि वो कौन सा पंजा था जो रुपए को घिस कर 15 पैसे में बदल देता है.''

उन्होंने कहा कि दिल्ली की ज़िम्मेदारी मिली तो वो चौकीदार की तरह बैठेंगे और देश की तिजोरी पर पंजा नहीं पड़ने देंगे.

इन चुनौतियां से कैसे निपटेंगे नरेंद्र मोदी

'खून की राजनीति'

इमेज कॉपीरइट AP

वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्ष खून की राजनीति करता है.

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में जब आपदा आई तब पूरा उत्तराखंड साथ खड़ा हो गया.

राहुल ने कहा, "पूरा हिंदुस्तान एक है सिर्फ़ चुने हुए लोग देश को बांटने में लगे हुए हैं और एक को दूसरे से लड़ाने में लगे हुए हैं."

राहुल ने कहा कि उनके कहने पर रसोई गैस के सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या नौ से बढ़ाकर 12 की गई. राहुल ने पूर्व सैनिकों की 'एक रैंक, एक पेंशन' की मांग को पूरा करने का भी ज़िक्र किया.

उत्तराखंड में पूर्व सैनिक बड़ी तादाद में हैं.

कांग्रेस के अंदर सबसे ज़्यादा ज़हर है: मोदी

'किसानों को हक़ दिलाएंगे'

इमेज कॉपीरइट AFP

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने हरियाणा के रोहतक में सभा को संबोधित करते हुए भाजपा नेता नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला.

केजरीवाल ने कहा, "मैंने नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी से पूछा कि आप जो हेलिकॉप्टर इस्तेमाल करते हैं ये किसके हैं और आप इनका किराया देते हैं या मुफ़्त में इस्तेमाल में करते हैं."

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी सत्ता में आई तो किसानों को उनका हक़ दिलाएगी.

केजरीवाल ने कहा, "ये कहते हैं हमें सरकार चलानी नहीं आती. मैं चैलेंज करता हूं जितने काम हमने करके दिखाए हैं किसी और ने कर के दिखाए हों तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार