आजसू नेता तिलेश्वर साहु की जनसभा में हत्या

नक्सली संगठन इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption एक कथित नक्सली संगठन ने इस हत्या की ज़िम्मेदारी कबूल की है

झारखंड में आल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन या आजसू पार्टी के एक वरिष्ठ नेता तिलेश्वर साहु की दिन दहाड़े हत्या कर दी गई है.

उन पर तब हमला किया गया जब वो महिला दिवस के मौके पर हज़ारीबाग ज़िले के बरही में एक महिला सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

हज़ारीबाग के पुलिस अधीक्षक मनोज कौशिक ने इस घटना की पु्ष्टि की है. कथित नक्सली संगठन पीएलएफआई ने इस घटना की ज़िम्मेदारी ली है.

एसपी के मुताबिक एक संदिग्ध हमलावर को हथियार के साथ पकड़ा गया है. घटना के विरोध में आजसू पार्टी ने रविवार को झारखंड बंद बुलाया है.

जांच की मांग

डेढ़ हजार महिलाओं की भीड़ में शामिल हमलावरों ने एकदम नज़दीक से उन पर गोलियां चला दी, हमले के बाद महिलाओं के बीच अफ़रा-तफ़री मच गई.

इस घटना को झारखंड में चुनाव पूर्व हिंसा से भी जोड़कर देखा जा रहा है. तिलेश्वर साहु पूर्व की सरकार में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

आजसू पार्टी से वे चतरा लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे थे.

बरही से उन्हें इलाज के लिए रांची लाया जा रहा था, लेकिन हजारीबाग सदर अस्पताल पहुंचते ही उन्होंने दम तोड़ दिया. बरही, झारखंड की राजधानी रांची से 135 किमी की दूरी पर है.

बरही के पुलिस उपाधीक्षक अविनाथ कुमार ने बताया है कि पकड़े गए हमलावर का नाम सूरज कुमार है. वे गुमला के रहने वाले हैं. अन्य हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अभियान चला रही है.

इस बीच पार्टी के प्रवक्ता डॉ. देवशरण भगत ने बताया है कि घटना के विरोध में रविवार को 'झारखंड बंद' बुलाया जाएगा.

पार्टी ने इस घटना की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार