उत्तर प्रदेश: एक बार फिर छात्रों पर कार्रवाई

शाहिद आफ़रीदी इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

उत्तर प्रदेश में एक और यूनिवर्सिटी ने भारत-पाकिस्तान के क्रिकेट मैच देखने के दौरान हुए विवाद के बाद भारत प्रशासित कश्मीर के छात्रों के साथ कुछ और छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की है.

जिन छह छात्रों को हॉस्टल से निकाला गया है उनमें चार भारत प्रशासित कश्मीर के हैं और दो उत्तर प्रदेश के हैं.

शारदा यूनिवर्सिटी के डीन स्टूडेंट वेलफ़ेयर रणवीर सिंह ने बीबीसी को बताया, "दो मार्च को भारत-पाकिस्तान के बीच मैच के दौरान कुछ छात्रों ने दूसरे पक्ष यानी पाकिस्तान का समर्थन किया था जिसे लेकर मामूली विवाद हुआ था."

हालांकि रणवीर सिंह इस बात से इनकार करते हैं कि छात्रों पर कार्रवाई पाकिस्तान का समर्थन करने के कारण की गई है. उन्होंने कहा कि जिन छह छात्रों को हॉ़स्टल से निकाला गया है उनमें आपस में विवाद हुआ था.

सोशल मीडिया पर विरोध

हालांकि रणवीर सिंह यह ज़रूर मानते हैं कि सोशल मीडिया पर घटना का विरोध हुआ था. उन्होंने बताया "हाल ही में मेरठ में एक यूनिवर्सिटी ने अपने छात्रों पर पाकिस्तान का समर्थन करने के कारण कार्रवाई की जिसके बाद सोशल मीडिया पर कुछ छात्रों ने सवाल उठाया था कि शारदा यूनिवर्सिटी क्यों कार्रवाई नहीं कर रही है."

रणवीर सिंह ने बताया कि शारदा यूनिवर्सिटी में क़रीब 150 कश्मीरी छात्र हैं. यूनिवर्सिटी के मुताबिक छात्रों को सिर्फ़ हॉस्टल से निकाला गया है. उनकी पढ़ाई ज़ारी है.

इससे पहले बीते हफ़्ते मेरठ की सुभारती यूनिवर्सिटी ने भारत प्रशासित कश्मीर के 67 छात्रों को निलंबित कर दिया था. मेरठ प्रशासन ने छात्रों पर देशद्रोह का मुक़दमा भी दर्ज किया था जिसे बाद में वापस ले लिया गया था.

एशिया कप में भारत और पाकिस्तान के बीच दो मार्च को हुए एक रोमांचक मुकाबले में पाकिस्तानी बल्लेबाज़ शाहिद अफ़रीदी ने अंतिम ओवर में दो छक्के लगाकर भारत के हाथों से मैच छीन लिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार