जहाँ सितारों के इशारों पर होता है कारोबार

  • 14 मार्च 2014
भारत में ज्योतिषी इमेज कॉपीरइट Getty

आज का दिन भी अभिषेक धवन के लिए काफ़ी व्यस्तता भरा है. उनके फ़ोन की घंटी बजनी बंद नहीं हुई है और उनको ढेर सारी बिजनेस मीटिंग में हिस्सा लेना है.

उनके अधिकांश ग्राहक जानना चाहते हैं कि बाज़ार में कोई प्रोडक्ट उतारने का सबसे अच्छा समय कब है.

अभिषेक उनकी मदद के लिए ढेर सारे कारकों और चार्ट्स पर नज़र डालते हैं.

वह कोई मार्केटिंग गुरू या अर्थशास्त्री नहीं बल्कि एक ज्योतिषी हैं और नक्षत्रों व ग्रहों की स्थिति का उपयोग करके कारोबारियों को लाभ बढ़ाने के लिए सुझाव देते हैं.

करोड़ों का कारोबार

पारंपरिक तौर पर ज्योतिषी शादियों की तारीख़ तय करने और शादी के लिए जोड़ों के सितारों का मिलान करते हैं.

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में ज्योतिष आज करोड़ों रुपए का कारोबार है, जो लोगों के रोज़मर्रा की ज़िंदगी का हिस्सा बन गई है.

लेकिन अब तो ज्योतिषी विभिन्न तरह की सेवाएं भी उपलब्ध कराते हैं.

अगर आप ऑनलाइन सर्च करें तो आपको तमाम ज्योतिषी मिल जाएंगे जो सलाह देते हैं कि आपको कौन सा शेयर ख़रीदना चाहिए, जबकि अन्य लोग रुपए और सोने के भाव का अनुमान बताते हैं.

हालांकि इन पर हर कोई भरोसा नहीं करता.

शेयर बाज़ार पर नज़र रखनेवाली संस्था भारतीय प्रतिभूति और विनमय बोर्ड (सेबी) ने निवेशकों को चेतावनी दी है, "शेयर क़ीमतों और बाज़ार के बारे में ज्योतिषी की भविष्यवाणियों पर यक़ीन करके कोई फ़ैसला न करें."

शुभ मुहूर्त

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन कई लोग इस सलाह को नज़रअंदाज कर रहे हैं और अभिषेक धवन जैसे लोगों के लिए यह अच्छी ख़बर है. उनकी कंपनी ऑस्क गनेशा डॉट कॉम के ग्राहकों की संख्या पिछले साल दोगुनी हो गई.

अन्य ऑनलाइन ज्योतिष कंपनियों में भी इस तरह की वृद्धि दिखाई देती है.

वह मुझे बताते हैं, "भारत में कई उद्योगधंधों में कोई उत्पाद लांच करने के पहले ज्योतिषियों की सलाह ली जाती है क्योंकि लोग शुभ मुहूर्त के बारे में जानना चाहते हैं."

वह थोड़ी देर के लिए रुकते हैं और फिर हंसते हुए जवाब देते हैं, "अगर प्रकृति की शक्तियां आपके साथ हैं तो आपकी ज़िंदगी बेहतर होगी, लेकिन अगर वे आपके ख़िलाफ़ हैं तो आपको संघर्ष करना पड़ेगा."

जब मैं उनके सफलता की संभावना के बारे में पूछता हूँ तो वह तुरंत बताते हैं, "अस्सी फ़ीसदी, यह एक विज्ञान की तरह है और हमसे इस वज़ह से ग़लतियां होती हैं क्योंकि लोग हमें सही जानकारी नहीं देते."

सलाह की जरूरत

Image caption अभिषेक धवन कहते है, "ज्योतिष एक विज्ञान की तरह है."

रामजीत राय कोलकाता में कार्पोरेट कम्यूनिकेशन कंपनी चलाते हैं और भारत की कुछ बड़ी कंपनियों को उनके प्रोडक्ट की मार्केटिंग में मदद करते हैं."

वह कहते हैं, "कई कपंनियां अपने ब्रॉण्ड के नामकरण के पहले ज्योतिषियों की सलाह लेती हैं वे यह भी जानना चाहते हैं कि इसके नाम में कितने अक्षर होने चाहिए और क्या इसका नाम उनके लिए अच्छा साबित होगा या नहीं."

रामजीत बताते हैं, "जब हम कोई बड़ा कार्यक्रम करते हैं तो हमें सलाह लेनी होती है कि स्टेज कहां पर लगाया जाए."

वह अभी चालीस साल के हैं और नए भारतीय कारोबारियों की सफलता का उदाहरण हैं. तो भारतीय व्यवसाय की आधुनिक दुनिया में वह ज्योतिष का इस्तेमाल क्यों करते हैं?

वह बिना किसी झिझक के कहते हैं, "ज्योतिष हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. यह तर्क पर आधारित है जो जीवनशैली और धर्म से जुड़ी है."

'कोई वैज्ञानिक आधार नहीं'

रामजीत की दुकान से थोड़ी दूर पर समीप बिजनेस की पढ़ाई करने वाले छात्रों के साथ समूह चाय पी रहा था. ज्योतिष उनके बिजनेस पाठ्यक्रम का हिस्सा नहीं है.

मैंने उनके पूछा कि क्या बिजनेस के फ़ैसलेलेते समय वे कभी ज्योतिष का इस्तेमाल करेंगे तो वे मुझे ऐसे घूरने लगे मानों मैं कोई पागल हूँ.

उन छात्रों में से एक राज कहते हैं, "मेरे लिए ज्योतिष कोई कारक नहीं है. इसके बजाय मैं बाज़ार की परिस्थितियों पर ग़ौर करुंगा."

इससे पहले कि मैं दूसरा सवाल पूछ पाता, उन छात्रों में से एक आलोच चाय की चुस्कियां लेना रोककर कहते हैं, "कभी नहीं, मैं किसी ज्योतिषी की सलाह नहीं लूंगा इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है."

लेकिन बिजनेस विश्लेषक मुदार पाथेरिया संदेह के साथ कहते हैं कि भारतीय कारोबारियों की नई पीढ़ी प्राचीन परंपरा की तरफ़ से मुँह फेर लेगी.

वह कहते हैं, "हाँ, कुछ लोग हैं जो इस विधा पर यक़ीन नहीं करते."

ज्योतिष का भविष्य

इमेज कॉपीरइट Getty

उनके अनुसार, "कई ऐसे लोग भी हैं जो मानते हैं कि ज्योतिष विज्ञान पर आधारित है और अगर आप कोई योजना बनाते समय सितारों और ग्रहों के अनुसार चलते हैं तो आपके निवेश या उत्पाद में लाभ होगा."

यह ज्योतिष का कारोबार करने वालों के लिहाज़ से अच्छी ख़बर है, जिनको रोज़ाना नए ग्राहक मिल रहे हैं.

अभिषेक से एक कंपनी ने सलाह मांगी है कि क्या उनकी कंपनी के ट्रेडमार्क के लिए कौन सा रंग इस्तेमाल करना चाहिए? क्या नीला रंग उनके लिए शुभ साबित होगा?

वह अपना फ़ोन स्विच ऑफ़ करके घर जाने की तैयारी कर रहे हैं. इससे पहले कि वह जाएं, हो सकता है कि मैं भी कोई वित्तीय सलाह लूं.

वह पूछते हैं, "मेरा जन्म कब हुआ था?"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार