विकीलीक्स पोस्टर पर बढ़ा विवाद, बीजेपी जांच को तैयार

विकीलीक्स से जुड़े पोस्टर पर बढ़ा विवाद इमेज कॉपीरइट twitter

भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि वह प्रधानमंत्री पद के लिए अपने उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का समर्थन करने वाले विकीलीक्स संस्थापक जूलियन असांज के कथित फ़र्जी पोस्टरों की जांच करवाने को तैयार है.

सोमवार को विकीलीक्स ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी ने असांज का साथ मिलने की झूठी अफवाह फंड जुटाने के लिए फैलाई.

साथ ही विकीलीक्स ने इस बात को भी ग़लत बताया है कि किसी अमरीकी अधिकारी ने मोदी को 'अनकरेप्टेबल' यानी भ्रष्ट न किया जा सकने वाला व्यक्ति बताया था.

विकीलीक्स के बयान के बाद भाजपा के राष्ट्रीय सचिव रामेश्वर चौरसिया ने चैनल एबीपी न्यूज़ से कहा, "अगर विकीलीक्स सबूत देता है तो हम चंदा मांगने की जांच के लिए तैयार हैं."

उधर यह मामला राजनीतकि रूप से तूल पकड़ता नज़र आ रहा है. इसके सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से कहा, "हम तो पहले ही कहते रहे हैं कि सोशल मीडिया पर मोदी की छवि के बारे में जो प्रचार हो रहा है वह ग़लत है और ये एक बड़ा षड्यंत्र है. उनके भाषणों में पहले भी कई बार गलत बातें सामने आती रही हैं."

'कांग्रेस नेता ने लोकप्रिय बताया था'

विकीलीक्स ने सोमवार को ट्विटर के माध्यम से कुछ भाजपा समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर प्रसारित एक पोस्टर के बारे में स्पष्टीकरण दिया- जिसमें असांज को यह कहते हुए दिखाया गया है कि अमरीका मोदी से डरा हुआ है क्योंकि उन्हें भ्रष्ट नहीं बनाया जा सकता.

विकीलीक्स ने यह भी कहा है कि असांज के साथ भारतीय जनता पार्टी का समझौता होने की 'अफ़वाह' को ट्विटर पर भाजपा की प्रीती गांधी ने बढ़ावा दिया.

विकीलीक्स की तरफ़ से कहा गया, "विकीलीक्स के किसी भी केबल में नरेंद्र मोदी को 'अनकरेप्टेबल' नहीं बताया गया है."

यह मामला 2011 में जारी किए गए अमरीकी कूटनीतिक केबल से संबंधित है.

विकीलीक्स का कहना है कि उनकी तरफ़ से केवल यही कहा गया था कि "भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार लोकप्रिय हैं और भारतीय उन्हें भ्रष्टाचार मुक्त मानते हैं."

विकीलीक्स की तरफ से स्पष्ट किया गया है, "हमारे केबल में राजकोट कांग्रेस पार्टी के नेता मनोहर सिंह जडेजा ने उन्हें 'भ्रष्टाचार से मुक्त' बताया था."

इस केबल में जडेजा ने कहा, "मोदी बहुत ही लोकप्रिय हैं और अब कुछ हद तक मुसलमान भी उन्हें समर्थन दे रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार