पुलिस का चार चरमपंथियों की गिरफ़्तारी का दावा

दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि उसने चार संदिग्ध चरमपंथियों को गिरफ़्तार किया है. इनमें से एक व्यक्ति की पहचान ज़िया उर रहमान उर्फ वक़ास के रूप में हुई है. पुलिस ने कहा है कि वक़ास एक पाकिस्तानी नागरिक हैं.

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के विशेष आयुक्त एसएम श्रीवास्तव ने समाचार एजेंसी पीटीआई को यह जानकारी दी है.

वहीं भारत के गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने मीडिया से कहा कि पाकिस्तानी नागरिक वक़ास को गिरफ़्तार करना 'हमारी बहुत बड़ी सफलता है. इस पर हम और तलाशी करने का प्रयास करेंगे.'

शिंदे ने कहा, "हम ख़ुफ़िया कारणों से इस मामले से जुड़ी सभी चीज़ें नहीं बता सकते. लेकिन और भी चीज़ें अभी सामने आनी है.

कुछ जगहों पर ऐसी ख़बरें आ रही थीं कि इन चरमपंथियों के निशाने पर राजनीतिक दलों के नेता थे.

जब मीडिया ने भारतीय गृह मंत्री से पूछा कि क्या भाजपा नेता नरेंद्र मोदी को ख़तरा इन लोगों से ख़तरा है तो शिंदे का कहना था कि बिहार में हुए धमाके के बाद नरेंद्र मोदी की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी और उन्हें डरने की ज़रूरत नहीं है."

पुलिस के मुताबिक़ ग़िरफ़्तार लोगों में शामिल पाकिस्तानी नागरिक वक़ास की दो जुलाई को मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम धमाके समेत कई दूसरे मामलों में तलाश थी.

ये ग़िरफ़्तारियां दिल्ली और राजस्थान पुलिस ने एक संयुक्त अभियान में जयपुर और जोधपुर में अलग-अलग अभियान के तहत कीं.

वक़ास को जोधपुर से और बाक़ी लोगों को जयपुर से गिरफ़्तार किया गया. पुलिस के मुताबिक़ ग़िरफ़्तार लोग प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन के राजस्थान माड्यूल के सदस्य हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार