'बाग़ी' जसवंत सिंह ने दाख़िल किया पर्चा

  • 24 मार्च 2014
जसवंत सिंह, वरिष्ठ भाजपा नेता इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय जनता पार्टी के बाग़ी नेता जसवंत सिंह ने बाड़मेर लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के बतौर सोमवार को अपना नामांकन पत्र दाख़िल कर दिया.

स्थानीय संवाददाता नारायण बारेठ के मुताबिक़ नामांकन पत्र दाख़िल करने से पहले जसवंत पुत्र और भाजपा विधायक मानवेंद्र सिंह से मिले और उनसे विचार विमर्श किया.

पर्चा दाख़िल करने के बाद जसवंत सिंह ने कहा, "मुझसे पार्टी के किसी भी नेता ने संपर्क नहीं किया है और मैं पार्टी के रवैये से नाराज़ हूं. मैं जनता के आदेश पर चुनाव लड़ रहा हूँ."

जसवंत सिंह का बाड़मेर स्टेडियम में एक जनसभा को संबोधित करने का कार्यक्रम है जिसमें वह अपनी आगे की रणनीति का ऐलान करेंगे.

मतभेद

इस मौके पर भाजपा का कोई विधायक तो जसवंत सिंह के साथ मौजूद नहीं था, लेकिन पार्टी के अनेक स्थानीय नेता और कार्यकर्ता उनके साथ नज़र आए.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption जसवंत सिंह को लाल कृष्ण आडवाणी खेमे का समर्थक माना जाता है.

शनिवार को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बाड़मेर और जैसलमेर के भाजपा विधायकों को जयपुर तलब किया था और बाड़मेर से भाजपा के प्रत्याशी कर्नल सोनाराम चौधरी का समर्थन करने को कहा.

बाड़मेर के पूर्व सांसद सोनाराम चौधरी हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं.

वसुंधरा राजे ने जसवंत सिंह का कभी खुला विरोध नहीं किया था. हालांकि दोनों के बीच पहले भी मतभेद रहे हैं, लेकिन अब वह खुलकर सामने आ गए हैं.

इससे पूर्व शनिवार को भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने भी जसवंत सिंह को टिकट नहीं दिए जाने पर दुःख जताया था.

सुषमा ने भोपाल में कहा था, "मैं इस निर्णय से निजी तौर पर दुखी हूँ. यह एक असाधारण निर्णय है और असाधारण निर्णय बिना कारण नहीं लिए जाते."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार