नरेंद्र मोदी बनारस के बेनिया बाग़ में आकर सीधी बहस करें: केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल इमेज कॉपीरइट Reuters

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि उन्हें सत्ता का लालच नहीं है और वो बनारस सांसद बनने नहीं बल्कि देश के भ्रष्टाचार से बचाने आए हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा को नहीं पता कि त्याग क्या होता है.

अरविंद केजरीवाल ने भाजपा नेता नरेंद्र मोदी को खुली चुनौती देते हुए कहा कि वो बेनिया बाग़ में आकर उनसे सीधी बहस करें और अगर वो ऐसा नहीं करते तो 'हम मानेंगे कि दाल में कुछ काला है.'

अरविंद केजरीवाल ने बनारस के बेनिया बाग़ मैदान में एक जनसभा के दौरान कहा कि पूरे देश में कांग्रेस के खिलाफ गुस्सा है, लेकिन बताया जा रहा है कि नरेंद्र मोदी का जोरदार समर्थन है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री का पद छोड़ने के बाद भगोड़ा कहे जाने पर केजरीवाल ने कहा कि भाजपा तो राजा हरिश्चंद्र को भी भगोड़ा कहती.

उन्होंने कहा कि सभी कह रहे हैं कि नरेंद्र मोदी ने बहुत विकास किया है, लेकिन किसी को ये नहीं पता है कि उन्होंने क्या विकास किया है.

सच्चाई से दूर

केजरीवाल ने कहा कि नरेंद्र मोदी के विकास की बात मीडिया ने फैलाई है, जो सच्चाई से काफी दूर है.

भारतीय जनता पार्टी ने अपने प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेंद्र मोदी को वाराणसी से लोकसभा उम्मीदवार बनाया है, हालांकि मोदी गुजरात की वडोदरा सीट से भी मैदान में हैं.

इससे पहले केजरीवाल ने बंगलौर में एक रैली के दौरान कहा था कि उनकी पार्टी चाहती है कि वो नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ वाराणसी से चुनाव लड़ें.

उन्होंने कहा था कि वो वाराणसी में जनसभा कर के जनता की राय लेंगे कि वो वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़े की नहीं.

केजरीवाल की 'भक्ति'

इससे पहले अरविंद केजरीवाल मंगलवार सुबह सवा आठ बजे शिवगंगा एक्सप्रेस से वाराणसी पहुंचे.

केजरीवाल पहले 23 मार्च को वाराणसी में जनसभा करने वाले थे लेकिन प्रशासन की अनुमति ने मिलने के कारण वो 25 मार्च को रैली कर रहे हैं.

उन्होंने वाराणसी के दशास्वमेध घाट पर स्नान किया और उसके बाद मशहूर काल भैरव मंदिर और काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन किए.

वाराणसी में रोड शो के दौरान अरविंद केजरीवाल पर स्याही भी फेंकी गई.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे को कभी एक दूसरे को काले झंडे नहीं दिखाए, लेकिन आज सभी मिलकर आम आदमी पार्टी को काले झंडे दिखा रहे हैं. उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि दोनों दल मिले हुए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार