'देशभक्ति' पर सोनिया और मोदी का वाकयुद्ध

  • 31 मार्च 2014
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट PTI

भाजपा के प्रधानमंत्री के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए उनकी देशभक्ति पर सवाल उठाए हैं और कहा है कि इस देश के लोगों को उनसे देशभक्ति का प्रमाण पत्र लेने की ज़रूरत नहीं है.

ईटानगर में इतालवी नौसैनिकों के मुद्दे पर सोनिया गांधी को घेरते हुए नरेंद्र मोदी ने पूछा आखिर किसके कहने पर उन्हें देश छोड़ कर जाने का मौका दिया गया.

रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा था कि "कुछ लोग देशभक्ति का ढोल पीट रहे हैं". इस पर मोदी ने कहा कि सोनिया गांधी को देश के प्रति लोगों के प्यार पर सवालिया निशान नहीं लगाना चाहिए.

देशभक्ति पर सवाल

मोदी ने दावा किया कि सोनिया गांधी देश ने देश के लोगों की देशभक्ति पर सवाल खड़ा किया है. उन्होंने पूछा कि आख़िर किसके आदेश पर केरल के तट पर दो मछुआरों की गोली मारकर हत्या करने के आरोपी दो इतालवी नौसैनिकों को छोड़ा गया.

मोदी ने कहा, "किसके कहने पर दिल्ली की केंद्र सरकार ने नौसैनिकों को वापस इटली जाने का मौका दिया?"

उन्होंने कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सख़्ती नहीं दिखाई होती तो इतालवी नौसैनिक वापस नहीं आते.

इमेज कॉपीरइट
Image caption कांग्रेस के घोषणापत्र को मोदी ने 'धोखापत्र' बताया है.

सुप्रीम कोर्ट ने इतालवी नौसैनिकों को इटली के चुनाव में भाग लेने के लिए अपने देश जाने की अनुमति दी थी. इटली ने नौसैनिकों को वापस भेजने से इनकार कर दिया तो सुप्रीम कोर्ट ने इतालवी राजदूत के देश छोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया था.

इसके बाद से इटली नरम पड़ा और नौसैनिकों को वापस भेजा.

सोनिया गांधी ने रविवार को भाजपा पर यह कहते हुए हमला किया था कि "कुछ लोग देशभक्ति के ढोल पीट रहे हैं" और जो लोग धर्मनिरपेक्ष मूल्यों में विश्वास नहीं करते वे केवल लोगों को गुमराह कर किसी भी तरह "सत्ता हथियाना" चाहते हैं.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, कांग्रेस का घोषणापत्र एक "धोखापत्र" है और पिछले चुनाव में 100 दिनों में मुद्रास्फीति को नीचे लाने का वादा पार्टी ने पूरा नहीं किया.

लोकतांत्रिक ढ़ांचा

मोदी ने दिल्ली में अरुणाचल प्रदेश के युवा तानिया नीडो की मौत का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा, "मैं इस तरह की घटनाओं से दुखी हूं लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने पूर्वोत्तर के दौरे के वक़्त इस घटना का उल्लेख नहीं किया."

नरेंद्र मोदी के कांग्रेस अध्यक्ष की निंदा करने का जवाब देते हुए कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि "भारतीय होना एक मानसिकता है."

कांग्रेस के एक अन्य नेता पी चिदंबरम ने नरेंद्र मोदी के राष्ट्रवाद पर हमला करते हुए कहा कि उनके चरित्र पर 'गंभीर कलंक' है.

सोनिया का रुख़

सोनिया गांधी ने हरियाणा के मेवात में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा है कि भगवा पार्टी सिर्फ किसी भी तरह प्रधानमंत्री पद को हथियाना चाहती है.

उन्होंने कहा, "इन दिनों भाजपा के नेता अपना वेष बदल रहे हैं और मगरमच्छ के आंसू रो रहे हैं. "

उन्होंने कहा कि इन दस वर्षों में कांग्रस की सरकार ने जितना काम किया है उतना किसी भी ग़ैर-कांग्रेसी सरकार ने नहीं किया है. भाजपा को आड़े हाथ लेते उन्होंने कहा, " भाजपा अपनी काली करतूतों को छिपाने की कोशिश कर रही है. "

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि 2014 का यह लोकसभा चुनाव सामाजिक योजनाओं और सुधारों के संदर्भ में नहीं बल्कि "देश के लोकतांत्रिक ढाँचे को बचाने के लिए है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार