कांग्रेस के ख़िलाफ़ बीजेपी की चार्जशीट

रविशंकर प्रसाद इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार को यूपीए सरकार के ख़िलाफ़ "आरोप पत्र" जारी करते हुए कांग्रेस शासन की विफलता को उजागर किया है और इस सरकार को "भारत की सबसे भ्रष्ट सरकार" बताया है.

भाजपा के प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान बारी बारी से कई आरोप लगाए.

पत्रकारों से रविशंकर प्रसाद ने कहा, "चार्जशीट के लिए हमने लोगों से राय मांगी और इसके माध्यम से 42,000 लोगों ने हमें अपनी राय दी.''

बीजेपी के अनुसार यूपीए सरकार के दौरान "प्रधानमंत्री के पद की गरिमा और सत्यनिष्ठा" से समझौता करने की कोशिश की गई थी.

रविशंकर प्रसाद ने कहा, "सोनिया और राहुल गांधी ने सोची-समझी रणनीति के तहत प्रधानमंत्री कार्यालय की ताकत को कम किया."

प्रसाद ने कहा कि सोनिया और राहुल गांधी जवाबदेही के बिना सत्ता चाहते थे और मनमोहन सिंह किसी बोर्ड के सीईओ की तरह काम कर रहे थे.

भाजपा ने यूपीए सरकार पर भारतीय अर्थव्यवस्था को नष्ट करने का आरोप भी लगाया है.

पार्टी प्रवक्ता कहा कि सोनिया और राहुल गांधी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ भारत की अर्थव्यवस्था की सभी बीमारियों के लिए समान रूप से दोषी हैं.

भ्रष्टाचार

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने आरोप लगाया कि बेरोजगारी की दर यूपीए सरकार में काफ़ी ऊपर चली गई है लेकिन वित्त मंत्री चिदंबरम सच नहीं बोल रहे हैं.

बीजेपी के इस चार्जशीट के अनुसार यूपीए की सरकार का कार्यकाल "घोटाले और भ्रष्टाचार की अनंत गाथा" रही है.

रविशंकर प्रसाद का कहना था, "हमने फ़ैसला लिया कि केवल 10,000 करोड़ रुपए से ऊपर के घोटाले को ही प्रमुख घोटालों की श्रेणी में रखेंगे, लेकिन इसके बावजूद भी कई घोटाले थे. "

उन्होंने कहा, " कांग्रेस गंभीरता से किसी भी घोटाले की जांच के लिए तैयार नहीं थी. अगर विपक्ष, अदालत , मीडिया नहीं होता तो वे किसी मामले की जांच नहीं कराते. "

उन्होंने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र में कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण को राहुल गांधी के बड़े-बड़े दावों के बावजूद टिकट दिया गया.

इस चार्जशीट में यूपीए की राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी चुनौतियों पर भी प्रकाश डाला गया और आरोप लगाया गया कि सिर्फ दो सालों में चीन की सीमा पर सीमा उल्लंघन के 500 मामले दर्ज किए गए है.

पार्टी प्रवक्ता का कहना था, '' हम बात कर रहे है कि कैसे आतंक के ख़िलाफ़ लड़ाई का मसला वोट बैंक की राजनीति में तब्दील हो गया है. "

विदेश की नीति की विफलता पर चर्चा करते हुए प्रसाद ने कहा, " आतंक के साथ वार्ता टूटना ( पाकिस्तान के संदर्भ में ) यूपीए सरकार की सबसे बड़ी विफलता है.''

विफलता

इमेज कॉपीरइट AFP

पूर्वोत्तर में विकास की कमी की चर्चा करते हुए बीजेपी ने कहा कि प्रधानमंत्री पिछले 24 वर्षों पूर्वोत्तर से सांसद हैं फिर भी इस क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया है.

उन्होंने कहा "एक भी प्रमुख उद्योग पूर्वोत्तर में नहीं स्थापित किया गया, वाजपेयी के द्वारा की गई पहल को बंद कर दिया गया है. केवल अवैध प्रवास का उद्योग फल-फूल रहा है."

भाजपा ने शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में असफल रहने का यूपीए पर आरोप लगाते हुए कहा स्वास्थ्य के बजट को 20% से अधिक घटा दिया गया.

भाजपा के अनुसार, कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन 2009 के घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा करने में विफल रही है.

प्रसाद ने कहा "यह सरकार सभी मोर्चों पर एक साथ विफल रही है. "

बीजेपी का कहना था कि ''यूपीए की विरासत पीड़ित, असुरक्षित, व्यथित और उदास भारत की है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार