अमित शाह और आजम खान के ख़िलाफ होगी कार्रवाई

अमित शाह इमेज कॉपीरइट Reuters

चुनाव आयोग ने नरेंद्र मोदी के सहयोगी और भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी अमित शाह और उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री आज़म खान के ऊत्तर प्रदेश में चुनाव सभा करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. साथ ही उनके ख़िलाफ़ तुरंत अपराधिक कार्रवाई शुरू करने के आदेश भी जारी कर दिए हैं.

चुनाव आयोग ने यह फैसला शुक्रवार 11 अप्रैल को दोनों नेताओं के साम्प्रदायिकता भड़काने वाले ज़हरीले भाषणों का संज्ञान लेकर लिया.

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव को लिखे एक पत्र में चुनाव आयोग ने कहा, "आयोग गंभीर चिंता के साथ देख रहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री श्री आज़म ख़ान और भारतीय जनता पार्टी के नेता श्री अमित शाह अपने चुनावी अभियान के दौरान अत्यंत उत्तेजक भाषण दे रहे हैं. अन्य बातों के साथ-साथ उनके यह वक्तव्य आपसी रंजिश, नफरत, और विभिन्न धार्मिक सम्प्रदायों में असामंजस्य पैदा कर रहे हैं." .

कार्रवाई में ढ़िलाई

Image caption आज़म ख़ान ने नरेंद्र मोदी को कुत्ते के बच्चे का बड़ा भाई कहा था.

आयोग ने आज़म ख़ान के बारे प्रदेश सरकार के ढुलमुल रवैय्ये की भी आलोचना की है. आयोग ने अपने पत्र में लिखा है आयोग द्वारा अमित शाह को 7 अप्रैल 2014 को और आज़म ख़ान को 9 अप्रैल 2014 को नोटिस जारी की गयी थीं. इन नोटिसों के बावजूद श्री आज़म ख़ान के द्वारा आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए आपत्तिजनक और उत्तेजक बयान दिए जा रहे हैं.

"आयोग द्वारा देखा गया है कि प्रदेश प्रशासन ने आवश्यक तत्परता से इन दोनों नेताओं के विरुद्ध, जहां ज़रूरी था, एफ़आईआर नहीं लिखी. विशेषकर, ऐसा लगता है कि श्री आज़म ख़ान के ख़िलाफ़ अभी तक कोई भी एफ़आईआर नहीं लिखवाई है. आयोग का मत है कि प्रदेश सरकार उनके विरुद्ध कोई भी कार्रवाई करने में ढ़िलाई बरत रही है."

इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए आयोग ने मुख्य सचिव को आदेश दिया है कि,

1. दोनों नेताओं के ख़िलाफ़ तुरंत एफ़आईआर लिखकर दंड प्रक्रिया शुरू कर दी जाए.

2. उन सभी जनसभाओं, रैलियों, जुलूस और रोड शो जिसमें यह दोनों नेता भाग ले रहे हों उनको प्रशासनिक अनुमति नहीं दी जाए.

अमित शाह ने अपने मुज़फ्फरनगर के भाषण में इस चुनाव को अपमान के बदले का चुनाव कहा था और आज़म ख़ान ने नरेंद्र मोदी को कुत्ते के बच्चे का बड़ा भाई कहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार