सिख दंगे: टाइटलर को 'क्लीन चिट', कांग्रेस मुख्यालय पर प्रदर्शन

  • 21 अप्रैल 2014
नई दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर अकाली दल का प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट AFP

अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने नई दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के कार्यालय के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारी कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह के कथित बयान का विरोध कर रहे थे.

अमरिंदर सिंह ने 1984 के सिख दंगों के मामले में जगदीश टाइटलर को कथित रूप से क्लीन चिट दी थी.

इस बीच भारतीय जनता पार्टी के नेता अरुण जेटली ने भी कांग्रेस नेता के बयान की निंदा की है.

अमरिंदर सिंह ने इस तरह के किसी बयान से इंकार किया है.

जेटली ने कहा कि "सरकार द्वारा प्रायोजित" हिंसा में जो भी दोषी हैं, उन्हें अभी तक सजा नहीं मिली है. भाजपा नेता ने अपने ब्लॉग में निर्दोष सिखों के "नरसंहार" को भारतीय लोकतंत्र पर एक दाग़ बताया है.

अरुण जेटली और अमरिंदर सिंह दोनों ही पंजाब की अमृतसर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. वहां 30 अप्रैल को मतदान होना है.

पुलिस से झड़प

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक सैकड़ों अकाली कार्यकर्ता नई दिल्ली के 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय पहुंचे और उन्होंने कांग्रेस विरोधी नारे लगाए.

पीटीआई के मुताबिक इस दौरान जब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो पुलिस के साथ भी उनकी झड़प हुई.

प्रदर्शनकारी बड़ी तादाद में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निवास स्थान दस जनपथ पर भी जमा हुए.

प्रदर्शनकारियों ने जब पीछे हटने से इनकार कर दिया तो पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का भी इस्तेमाल किया.

पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है.

एक निजी समाचार चैनल को हाल में दिए एक बयान में अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वो मानते हैं कि 1984 के दंगों को भड़काने में कांग्रेस के नेता जगदीश टाइटलर की कोई भूमिका नहीं थी.

तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए सिख दंगों में सैकड़ों सिख मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार