पार्टी जो भी कहे, मैं माफ़ी नहीं मांगूंगा: गिरिराज सिंह

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption गिरिराज सिंह अपने विवादास्पद बयान पर क़ायम हैं

बिहार में भारतीय जनता पार्टी के नेता गिरिराज सिंह ने कहा है कि वो अपने विवादास्पद बयान पर माफ़ी नहीं मांगेंगे क्योंकि उन्होंने कुछ ग़लत नहीं कहा है.

गिरिराज ने शुक्रवार को एक जनसभा में कहा था कि जो लोग मोदी के विरोधी हैं उन्हें पाकिस्तान चला जाना चाहिए. उनके इस बयान को लेकर ख़ासा विवाद हो रहा है.

न सिर्फ़ कांग्रेस बल्कि एनडीए के कुछ दलों ने भी गिरिराज सिंह के इस बयान की कड़ी आलोचना की है. उनकी अपनी पार्टी के कुछ नेताओं को भी ये बयान हज़म नहीं हो रहा है. लेकिन गिरिराज सिंह का कहना है कि उन्होंने कुछ ग़लत नहीं कहा है.

बीबीसी संवाददाता रूपा झा से बातचीत में उन्होंने कहा, “दुनिया के कई देश नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोकना चाहते है, उसमें भारत का एक नंबर दुश्मन देश पाकिस्तान भी एक है. पाकिस्तान ने नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री नहीं बनने देने के लिए पूरी ताक़त लगा दी है.”

जब उनसे पूछा गया कि क्या सारे मोदी विरोधी देश विरोधी है. इस पर उनका कहना था, “लोकतंत्र की ख़ूबसूरती है विरोध करना लेकिन क्या इसका मतलब पाकिस्तान परस्त लोगों को खुली छूट दे दी जाए.”

'माफ़ी नहीं मांगेंगे'

गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को एक रैली में कहा था, “जो लोग नरेंद्र मोदी को रोकना चाहते हैं, वे पाकिस्तान की ओर देख रहे हैं. आने वाले दिनों में उनके लिए भारत में कोई जगह नहीं होगी. उनके लिए बस पाकिस्तान में जगह बचेगी.”

इस रैली में बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी भी मौजूद थे. राजनीतिक हलकों में गिरिराज सिंह के बयान की कड़ी आलोचना हो रही है.

बिहार बीजेपी के नेता सुशील कुमार मोदी ने इस पर रविवार को ट्वीट कर कहा, "गिरिराज का बयान ग़ैर ज़िम्मेदाराना है, बीजेपी इससे सहमत नहीं है."

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता मीम अफजल ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "जो लोग वोट नहीं डालेंगे, क्या उन सबको मोदीजी पाकिस्तान भेजेंगे? अगर ऐसा हुआ तो 90 प्रतिशत लोगों को पाकिस्तान भेजना पड़ेगा."

जब गिरिराज सिंह से पूछा गया कि उनकी अपनी पार्टी ही उनके बयान से दूरी बना रही है तो उन्होंने कहा, "मैंने पार्टी से ना समर्थन के लिए कहा है और ना ही विरोध के लिए. मैं देश का एक नागरिक हूँ और मैंने कोई ग़लत बयान नहीं दिया है इसलिए मैं माफ़ी नहीं मागूंगा."

दूसरी तरफ एनडीए की अहम सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के नेता नरेश गुजराल ने कहा है, “मुझे पूरा विश्वास है कि भारतीय जनता पार्टी उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई करेगी.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार