‘धारा 370 की भावना पूरे देश में लागू हो - आम आदमी पार्टी’

योगेंद्र यादव

संविधान की जिस धारा 370 को भारतीय जनता पार्टी ख़त्म करना चाहती है, आम आदमी पार्टी उस धारा की भावना को देश के हर राज्य में ले जाना चाहती है.

आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने कहा है कि उनकी पार्टी धारा 370 की भावना को हर राज्य, हर ज़िले और हर गाँव में लागू करना चाहती है.

बीबीसी हिंदी से एक विशेष बातचीत में योगेंद्र यादव ने कहा, “लोग सिर्फ़ धारा 370 की बात करते हैं. इसकी मूल भावना क्या है? ये कि किसी एक इलाक़े के लोग अपने फ़ैसले स्वयं लें, उन पर दिल्ली वाले लोग फ़ैसले न थोपें. आम आदमी पार्टी इस भावना को इस देश के हर राज्य, हर ज़िले और हर गाँव में लागू करना चाहते हैं.”

सोमवार को कश्मीर में चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कश्मीर ही नहीं बल्कि तमाम राज्यों को ज़्यादा स्वायत्तता देने की वकालत की थी.

फ़ेसबुक पर योगेंद्र यादव से बातचीत

'उधार ली हुई सोच'

योगेंद्र यादव ने कहा, “धारा 370 की मूल भावना क्या है? वो भावना स्वायत्तता की भावना है, वो स्वराज की भावना है. और उसे हम कश्मीर ही नहीं महाराष्ट्र में ले जाना चाहते हैं. हम सिर्फ़ मुंबई में ही नहीं बल्कि गढ़चिरौली और गढ़चिरौली के गाँवों में ले जाना चाहते हैं. इसलिए उस भावना से हम असहमत कैसे हो सकते हैं?”

उनसे पूछा गया कि बहुत सारे लोग कहेंगे कि अगर आप धारा 370 की भावना आप हर जगह ले जाना चाहते हैं यानी आप भारत को खंड खंड करना चाहते हैं?

इस पर योगेंद्र यादव ने कहा विविधता को एकता के विरुद्ध मानना उधार ली हुई सोच का नतीजा है.

उन्होंने कहा, “ये यूरोप के घबराए हुए लोगों का विचार है. भारत की सभ्यता, भारत का इतिहास बार बार इसे झुठलाता रहा है. भारत के पिछले 65 साल के इतिहास ने पूरी दुनिया के सामने सबक़ दिया है कि भारत की एकता विविधता का सम्मान करके ही होती है. विविधता को मज़बूत करने से भारत और ज़्यादा मज़बूत हुआ है इसलिए मैं समझता हूँ कि अगर ये स्वायत्तता गाँव गाँव में पहुँचेगी तब भारत की एकता सच्ची एकता होगी.”

सत्ता का विकेंद्रीकरण

योगेंद्र यादव का कहना है, "आम आदमी पार्टी चाहती है, केंद्र सरकार की ताक़त कम हों. ये ताक़त राज्यों के पास जाएँ, राज्यों की ताक़तें कम की जाएँ, ज़िले को दी जाएँ. ज़िला कलेक्टर की ताक़त गाँव में दी जाए"

वो कहते हैं, "गाँव पंचायत को भी नहीं ग्रामसभा को दी जाए. आम आदमी पार्टी इस देश में सत्ता के केंद्रीयकरण के ढाँचे को उलटना चाहती है. यही हमारा स्वराज का सपना है. उसमें 370 को एक छोटी सी मिसाल है. इससे ज़्यादा कुछ भी नहीं. आम आदमी पार्टी का अंतिम सपना है कि इस देश का जो फ़ैसला ग्राम सभा में हो सकता है उसे योजना आयोग में न किया जाए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार