नीच कर्म होते हैं, जाति नहीं: राहुल गांधी

राहुल गांधी, प्रियंका इमेज कॉपीरइट AFP

प्रियंका गांधी और नरेंद्र मोदी के बीच चल रही ज़ुबानी जंग में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी कूद पड़े हैं. राहुल गांधी ने अमेठी में कहा कि नीच कर्म होते हैं, नीच जाति नहीं.

अमेठी पहुंचे राहुल गांधी ने पत्रकारों से कहा, "मेरा फ़ोकस लोकतंत्र को मज़बूत करने का है. ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को वोट देना चाहिए. नीच कर्म होते हैं, नीच जाति नहीं होती. नीच सोच होती है, ग़ुस्से की सोच होती है, क्रोध की सोच होती है."

अमेठी में सोमवार को प्रियंका गांधी ने नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए कहा था कि उन्होंने अमेठी की धरती पर उनके शहीद पिता का अपमान किया है.

प्रियंका ने कहा था कि गुजरात के मुख्यमंत्री 'नीच राजनीति' कर रहे हैं.

'क्या यह अपराध है?'

इसके बाद भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ट्वीट कर आरोप लगाया था कि 'नीच राजनीति' की टिप्पणी कर प्रियंका गांधी ने उनका अपमान किया है, क्योंकि वो एक पिछड़ी जाति से आते हैं.

उन्होंने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के डुमरियागंज में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ''मैं इससे इनकार नहीं करता कि 'नीच जाति' में मैंने जन्म लिया है, लेकिन क्या यह अपराध है?''

भाजपा ने भी प्रियंका गांधी की टिप्पणी को जातिवादी बताते हुए उसकी निंदा की.

कांग्रेस ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि प्रियंका ने इस तरह की कोई बात नहीं कही थी और वो केवल भाजपा के निम्नस्तरीय राजनीति के बारे में बता रही थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार