मांझी बने बिहार के मुख्यमंत्री, मोदी ने दी बधाई

जीतन राम मांझी इमेज कॉपीरइट PTI

68 वर्षीय जीतन राम मांझी ने मंगलवार को बिहार के 23वें मुख्यमंत्री के रूप में पद की शपथ ली.

बिहार के राजभवन में आयोजित एक सादे शपथ ग्रहण समारोह में मांझी ने अपने 17 विधायकों के साथ शपथ ली.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) नेता नीतीश कुमार ने अपने इस्तीफ़े के बाद मुख्यमंत्री के रूप में उनके नाम की पेशकश की थी.

मांझी लोकसभा चुनाव 2014 में बिहार की गया सीट से जदयू के उम्मीदवार थे और तीसरे नंबर पर रहे थे.

स्थानीय पत्रकार मनीष शांडिल्य ने बताया कि नए मुख्यमंत्री के रूप में मांझी के शपथ ग्रहण के तुरंत बाद भाजपा के दो विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है.

इस्तीफा देने वाले दोनों विधायक हैं- दरभंगा के जाले विधानसभा के विजय कुमार मिश्र और समस्तीपुर के मोहीऊद्दी नगर के राणा गंगेश्वर सिंह.

दोनों विधायक नीतीश कुमार के समर्थक माने जाते हैं. उनकी ओर से बिहार सरकार की प्रशंसा से जुड़े बयान आते रहे हैं.

मोदी ने दी बधाई

भारत के मनोनीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर जीतन राम मांझी को मुख्यमंत्री बनने की बधाई देते हुए बिहार के विकास में हर तरह के सहयोग का वादा किया है.

इमेज कॉपीरइट PTI

इससे पहले नीतीश कुमार ने लोकसभा चुनाव में मिली हार की नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए शनिवार को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री के रूप में जीतन राम मांझी के नाम की पेशकश कर नीतीश कुमार ने पिछड़े वर्ग को खुद से जोड़ने की कोशिश की. मांझी नीतीश सरकार में अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण मंत्री रहे हैं.

नीतीश कुमार ने जदयू विधायकों की ओर से इस्तीफ़ा वापस लिए जाने के अनुरोध को मानने से इनकार कर दिया था और अपने वरिष्ठ मंत्री जीतन राम मांझी का नाम आगे किया था.

शैक्षणिक रूप से स्नातक मांझी ने आजीविका कमाने के लिए एक चरवाहा के रूप में अपना जीवन शुरू किया था. उनके पिता रमनजीत राम मांझी एक भूमिहीन मजदूर थे.

जीतन राम मांझी के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए नीतीश कुमार ने राज्यपाल के सामने दावा पेश करते हुए विधायकों की सूची पेश की थी. इस सूची में जदयू के 117 विधायक, दो निर्दलीय और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के एक विधायक सहित कुल 120 विधायकों का नाम शामिल था.

वर्तमान में बिहार विधान सभा की मौजूदा संख्या 239 है. जदयू के 117, भाजपा के 90, राजद के 21 और कांग्रेस के चार विधायक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार