केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से माफी मांगी

केजरीवाल इमेज कॉपीरइट PTI

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में सरकार बनाने की संभावनाएं समाप्त हो गई है और उनकी पार्टी ताज़ा चुनाव के लिए तैयार है. केजरीवाल ने इस मौके पर जनता से मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देने के लिए माफी भी मांगी.

केजरीवाल ने मीडिया को जारी किए गए बयान में कहा, "सभी पक्षों पर सोचने के बाद मैं उन लोगों से माफी मांगता हूँ जो चाहते थे कि हम दिल्ली में अपनी सरकार चलाते रहें. हमारी पार्टी अपने प्रति लोगों के ग़ुस्से का कारण जानना चाहती है."

उन्होंने कहा, "अगले सात से दस दिनों तक हम दिल्ली में बैठकें करके लोगों से माफी मांगेंगे और फिर से नया जनादेश लेने की तैयारी शुरू करेंगे ताकि दिल्ली में सस्ती बिजली, मुफ्त पानी और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन वापस लाया जा सके."

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को 28 सीटें मिली थीं और उसने दिल्ली में सरकार बनाई थी. यह सरकार 49 दिन चली थी और उसके बाद केजरीवाल ने इस्तीफ़ा दे दिया था और दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था.

केजरीवाल ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा, "हमने नैतिकता के आधार पर सरकार छोड़ी थी. हमें पता नहीं था कि लोग उसे गलत तरीके से समझेंगे."

आम आदमी पार्टी दिल्ली में एक भी सीट नहीं जीत पाई और ख़ुद केजरीवाल बनारस के नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ चुनाव हार गए. पार्टी ने 400 से ज़्यादा सीटों पर चुनाव लड़ा था लेकिन वह केवल चार सीट ही जीत पाई.

केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली के लोगों को लगा कि हम उन्हें मँझधार में छोड़कर भाग गए हैं. हम उसके लिए देशवासियों और दिल्लीवासियों से माफी मांगते हैं."

बिजली के दाम

उन्होंने कहा, "49 दिन की सरकार में हमने पानी मुफ्त कर दिया था लेकिन हमारे सरकार छोड़ते ही बिजली के दाम बढ़ा दिए गए. पुलिस और अधिकारियों ने जनता को सताना शुरू कर दिया. वे लोगों से कहते हैं कि बुला लो अब अपने केजरीवाल को."

केजरीवाल ने कहा, "लोकसभा चुनाव ख़त्म मैं जब दिल्ली में घूमा तो लोगों ने कहा कि आप सरकार बनाइए वर्ना हम आपको कभी माफ़ नहीं करेंगे."

उन्होंने कहा, "हमने दिल्ली के उप राज्यपाल को एक चिट्ठी लिखकर दिल्ली की विधानसभा भंग करने की प्रक्रिया को हफ्तेभर के लिए रोकने का आग्रह किया था लेकिन अब दिल्ली में सरकार बनने की कोई संभावना नहीं है."

उन्होंने कहा, "आज हमारे विधायक दल की बैठक हुई जिसमें यह तय किया गया कि पार्टी दिल्ली में ताज़ा चुनाव कराने की मांग करेगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार