भारत-पाक संबंधों के अच्छे दिन?

  • 24 मई 2014
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption नरेंद्र मोदी 26 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे.

नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान सहित सार्क देशों के प्रमुखों को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के समारोह के लिए निमंत्रण भेजा है, इसे एक बेहद महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है.

ये शायद पहली बार है कि ऐसे किसी समारोह में सार्क नेताओं को आमंत्रित किया गया है. जहां दूसरे नेताओं ने भारत आने की हामी भर दी है, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के आने को लेकर स्थिति साफ़ नहीं है. हालांकि माना जा रहा है कि नवाज़ शरीफ़ के भारत आने से भारत-पाकिस्तान संबंधों को फायदा ही पहुंचेगा.

भारत-पाकिस्तान संबंधों में बेहतरी चाहने वाले लोग पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के दिनों को ज़रूर याद करते हैं लेकिन कारगिल युद्ध की याद भी कई लोगों के मन में ताज़ा है. ये भी कहा जाता है कि भारत-पाकिस्तान संबंधों में सुधार भाजपा शासनकाल में होने की संभावनाएं ज़्यादा हैं.

क्या भाजपा शासनकाल में भारत-पाकिस्तान रिश्तों के अच्छे दिन आएंगे?

यही है इस हफ़्ते के इंडिया बोल का विषय. आप इस बारे में क्या सोचते हैं?

शनिवार शाम भारतीय समयानुसार साढ़े सात बजे बीबीसी हिंदी के कार्यक्रम इंडिया बोल में शामिल होने के लिए इन नंबरों पर मुफ़्त फ़ोन करें – 1800-11-7000 और 1800-102-7001.

आप हमें अपने मोबाइल नंबर ईमेल भी कर सकते हैं. हमारा ईमेल आईडी है: bbchindi.indiabol@gmail.com