आम आदमी पार्टी को एक दिन में 'दो झटके'

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रणनीतिकार योगेंद्र यादव ने पार्टी की राजनीतिक मामलों की कमेटी यानी पीएसी और राष्ट्रीय कार्यकारिणी से इस्तीफ़ा दे दिया.

योगेंद्र यादव के अलावा आम आदमी पार्टी को एक और झटका दिया हरियाणा प्रदेश संयोजक नवीन जयहिंद ने. नवीन जयहिंद ने भी पीएसी और राष्ट्रीय कार्यकारिणी से इस्तीफ़ा दे दिया.

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में योगेंद्र यादव ने गुड़गांव और नवीन जयहिंद ने रोहतक से आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था और दोनों को ही करारी शिकस्त मिली थी.

हालांकि आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता और दिल्ली इकाई के सचिव दिलीप पाण्डेय ने स्पष्ट किया कि दोनों नेताओं सिर्फ पीएसी और राष्ट्रीय कार्यकारिणी से ही इस्तीफा दिया है, पार्टी से नहीं.

बीबीसी के साथ बातचीत में उन्होंने कहा, "दोनों ने ही पदों से इस्तीफ़ा दिया है, लेकिन पार्टी में बने हुए हैं. कार्यकारिणी की बैठक में इस्तीफ़े पर चर्चा होगी, अभी इस्तीफ़ा स्वीकार नहीं किया गया है."

मतभेद

वहीं योगेंद्र यादव ने भी ट्वीट करके इस बात को स्वीकार किया है कि उन्होंने सिर्फ पार्टी में अपना पद छोड़ा है, पार्टी नहीं छोड़ी है.

योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया है, “मेरे आम आदमी पार्टी छोड़ने की अफ़वाहें निराधार हैं. मैं पार्टी में हूं और पहले से अधिक पार्टी के लिए समर्पित हूं.”

ऐसी चर्चाएं थीं कि आम आदमी पार्टी में लोकसभा चुनाव के बाद योगेंद्र यादव और नवीन जयहिंद में कुछ मतभेद थे और कुछ जगहों पर ये मतभेद सार्वजनिक तौर पर दिखाई पड़े थे.

लेकिन योगेंद्र यादव ने पदों को छोड़ने के पीछे इन मतभेदों की बात ख़ारिज की है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा है, “मेरे इस फैसले का संबंध मेरे सहयोगी नवीन जयहिंद के साथ मतभेदों से कतई नहीं है. इतने छोटे मामले पर ऐसे फैसले नहीं ले सकते.”

योगेंद्र यादव पार्टी के हरियाणा मामलों के प्रभारी हैं जबकि जयहिंद प्रदेश संयोजक हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार