अखिलेश ने मीडिया पर साधा निशाना

अखिलेश यादव इमेज कॉपीरइट pti

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बदायूं सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में देश भर में उठ रहे आक्रोश के बीच मीडिया पर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप लगाया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ अखिलेश यादव ने कहा है कि मीडिया उत्तर प्रदेश की बुरी घटनाओं को ज्यादा तवज्जो दे रही है जबकि दूसरे राज्यों में होने वाली ऐसी घटनाओं को अनदेखा कर रही है.

उन्होंने दावा किया है कि उनकी सरकार ने ऐसे सभी मामलों पर कार्रवाई की है.

मुख्यमंत्री को उत्तर प्रदेश में हुई इस शर्मनाक घटना पर चौरतरफा आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.

दोहरा रवैया

अखिलेश यादव ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "बदायूं का मामला हो, या कोई और, यूपी सरकार ने हमेशा कड़े कदम उठाए हैं. बदायूं में सरकार जो कर सकती थी, उसने किया. सीबीआई जांच के भी आदेश दिए जा चुके हैं. राज्य में जहां कहीं भी ऐसे मामले सामने आए हैं, कार्रवाई की गई है."

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने आगे कहा, "मैं पहले भी कई बार कह चुका हूं और आज फिर से कह रहा हूं कि उत्तर प्रदेश में होने वाली घटनाओं को मीडिया ज्यादा प्रचारित करती है. ऐसी घटनाएं केवल यूपी में नहीं होतीं."

अखिलेश कहते हैं, "बैंगलोर में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था. लेकिन क्या उसे राष्ट्रीय चैनलों पर दिखाया गया? मध्य प्रदेश में इस तरह की घटनाएं हो रही हैं. मुझे पता चला है कि एक बड़े मंत्री के रिश्तेदार की चेन उनके घर के पास ही खींच ली गई. राजस्थान का मामला आपके सामने है. लेकिन हर जगह यूपी ही नजर आता है."

हाल के दिनों में बलात्कार के मामले को लेकर प्रदेश हर दिन सुर्खियों में रहा है.

साथ ही साथ बीजेपी आरोप लगाती रही है कि प्रशासन उन इलाक़ों में बिजली की कटौती कर रहा है जहां से पार्टी के उम्मीदवारों की आम चुनाव में जीत हुई है.

हालांकि प्रदेश शासन से इससे इंकार किया है और इधर तो ख़बरे आई हैं कि मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव क्षेत्र बनारस में पूरी बिजली सप्लाई के हुक्म ख़ासतौर पर दिए हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार