पाकिस्तान: जियो न्यूज़ ने आईएसआई को नोटिस भेजा

  • 6 जून 2014
इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के सबसे बड़े निजी टीवी चैनल जियो न्यूज़ ने देश की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई, रक्षा मंत्रालय और मीडिया नियामक पैमरा के ख़िलाफ़ मानहानि का नोटिस भेजा है.

जियो की तरफ़ से भेजे गए क़ानूनी नोटिस में कहा गया है कि इन तीनों संस्थानों ने जियो पर पाकिस्तान विरोधी एजेंडे रखने के आरोप में जो मुक़दमे दर्ज कराए हैं, वो ग़लत हैं.

नोटिस में कहा गया है कि ये संस्थान जियो से माफ़ी मांगे और अगर ऐसा नहीं करते हैं तो 50 अरब रुपए का हर्जाना दें.

दूसरी तरफ़ पैमरा ने रक्षा मंत्रालय की शिकायत पर पंद्रह दिन के लिए जियो न्यूज़ का लाइसेंस निलंबित कर दिया है.

ये मामला जियो टीवी के एंकर हामिद मीर पर हुए जानलेवा हमले से जुड़ा है जिसके लिए मीर ने आईएसआई को ज़िम्मेदार ठहराया था.

रक्षा मंत्रालय मामले को पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेग्युलेटरी अथॉरिटी (पैमरा) में ले गया था और उसने जियो पर देश के एक अहम प्रतिष्ठान को बदनाम करने का आरोप लगाया था.

क़ानूनी नोटिस

आईएसआई का कहना है कि हमले के लिए उसे ज़िम्मेदार ठहराया जाना निराधार है.

जियो ने एक बयान में कहा है, "जियो और जंग ग्रुप ने रक्षा मंत्रालय, आईएसआई और पैमरा को मानहानि और छवि धूमिल करने के लिए क़ानूनी नोटिस भेजे हैं."

अप्रैल में हामिद मीर पर हुए हमले के बाद से ही जियो टीवी का आईएसआई से विवाद चल रहा है.

संवाददाताओं का कहना है कि आईएसआई के ख़िलाफ़ इस तरह आरोप लगाने की हिम्मत कुछ ही लोग कर पाते हैं, क्योंकि उसे देश का सबसे ताक़तवर संस्थान माना जाता है.

जियो ने अपने नोटिस में कहा है कि उस पर लोगों के हिंसा के लिए भड़काने के आरोप भी ग़लत हैं.

नोटिस के अनुसार रक्षा मंत्रालय, पैमरा और आईएसआई ने देश भर के केबल ऑपरेटरों पर दबाव डाला कि वो जियो न दिखाएं और अगर दिखाएं भी तो उसे चैनलों की सूची में काफ़ी नीचे रखा जाए.

एक करोड़ का जुर्माना

उधर पैमरा ने बयान जारी कर कहा है कि उन्होंने जियो के ख़िलाफ़ रक्षा मंत्रालय की शिकायत पर ये फैसला सुनाया है. जियो के ख़िलाफ़ एक करोड़ पाकिस्तानी रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

पैमरा ने कहा है कि अगर निलंबन की अवधि पूरी होने से पहले जुर्माना नहीं दिया गया तो चैनल का प्रसारण आगे बंद रहेगा.

साथ ही ये कहा गया है कि अगर जियो ने नियमों का और उल्लंघन किया तो उसका 'लाइसेंस ख़त्म करने की प्रक्रिया शुरू हो सकती है.'

वहीं जियो का कहना है कि उसने हामिद मीर पर हुए हमले के बाद अपनी कवरेज के लिए पहले ही सार्वजनिक तौर पर माफ़ी मांग ली है.

हामिद मीर कराची में एयरपोर्ट से जियो के दफ़्तर जा रहे थे कि उन पर हमला हुआ. उन्हें पेट और टांग में छह गोलियां लगी थीं

ये अभी तक साफ़ नहीं है कि उन पर किसने हमला कराया क्योंकि किसी गुट ने अभी तक इसकी ज़िम्मेदारी नहीं ली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)