असमः चरमपंथियों से झड़प में एसपी की मौत

तरुण गोगोई इमेज कॉपीरइट bbc bangla
Image caption असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने घटना की निंदा की है.

असम के कार्बी आंग्लोंग में कार्बी पीपुल्स लिबरेशन टाईगर्स (केपीएलटी) संगठन के चरमपंथियों के साथ हुए संघर्ष में एक पुलिस अधीक्षक और एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई है.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रीजिजू ने कहा, "हमें पता चला है कि कार्बी आंग्लोंग के एसपी पर हमला हुआ है, और वे मारे गए हैं. गृह मंत्रालय ने इसकी रिपोर्ट मंगाई है."

असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने कहा है, "ये पुलिस बल और राज्य के लिए बहुत बड़ा धक्का है."

पुलिस महानिरीक्षक, कानून व्यवस्था एपी राउत ने शुक्रवार को समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि बीती रात जिले के पुलिस अधीक्षक नित्या नंदा गोस्वामी रोंगथांगन के वन-क्षेत्र में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अभियान की अगुवाई कर रहे थे.

अभियान के दौरान चरमपंथियों के एक बड़े समूह से उनका सामना हो गया. इसके बाद चरमपंथियों और एसपी के बीच गोलीबारी शुरू हो गई."

स्वशासित क्षेत्र की मांग

एपी राउत ने आगे बताया कि पुलिस टीम की जवाबी कार्रवाई में चरमपंथियों के साथ हुए इस मुठभेड़ में गोस्वामी और उनके निजी सुरक्षा गार्ड की मौत हो गई.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption नित्या नंदा गोस्वामी चरमपंथियों के खिलाफ अभियान चला रहे थे.

उन्होंने पीटीआई को यह भी बताया कि चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए पुलिस अधीक्षक अपने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और दूसरे पुलिसकर्मियों के साथ तीन समूहों में बंट गए जबकि गोस्वामी खुद पांच पुलिसकर्मियों के दल का नेतृत्व कर रहे थे.

एपी राउत ने गोस्वामी और उनके निजी सुरक्षा गार्ड के शव को शुक्रवार की सुबह बरामद कर लिए जाने की जानकारी भी दी.

पुलिस महानिरीक्षक ने पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में चलाए गए ऑपरेशन को "साहसिक कार्रवाई" बताया है.

केपीएलटी की स्थापना साल 2010 में हुई थी. यह समूह लंबे समय से कार्बी जनजाति के लोगों के लिए हेमप्रेक कांतिम (स्वशासित क्षेत्र) की मांग करता रहा है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार