कुलपति के 'इस्तीफ़े पर असमंजस की स्थिति'

  • 24 जून 2014
दिनेश सिंह
Image caption कुलपति दिनेश सिंह चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम पर अड़े हुए थे.

चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम के मुद्दे पर दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति दिनेश सिंह के इस्तीफ़े को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है.

विश्वविद्यालय के आधिकारिक सूत्रों ने बीबीसी को जानकारी दी है कि अभी दिनेश सिंह ने इस्तीफ़ा नहीं भेजा है.

लेकिन भारतीय मीडिया और समाचार एजेंसी पीटीआई में ऐसी ख़बरें आने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने दिनेश सिंह के घर पर पहुँच कर रहा उनसे इस्तीफ़ा न देने को कहा है.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि फ़िलहाल स्थिति ये है कि कुलपति दिनेश सिंह ने अभी इस्तीफ़ा नहीं भेजा है.

यूजीसी की तरफ से दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों पर तीन वर्षीय स्नातक कार्यक्रम को लागू करने का दबाव पड़ रहा था और विश्वविद्यालय प्रशासन और यूजीसी आमने-सामने आ गए हैं.

साल 2013-14 से पहले दिल्ली विश्वविद्यालय में स्नातक डिग्री के लिए तीन साल का पाठ्यक्रम था, जिसे दिल्ली विश्वविद्यालय ने एफ़वाययूपी (फोर ईयर यूनिवर्सिटी प्रोग्राम) के तहत चार साल का कर दिया था.

विश्वविद्यालय के कॉलेजों में चार वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम पिछले साल ही लागू किया गया था.

'कठिन परिणाम की चेतावनी'

यूजीसी ने कॉलेजों के प्रिंसिपल को चिट्ठी लिखकर तीन वर्षीय स्नातक कार्यक्रम में दाखिला लेने का निर्देश दिया था.

साल भर बाद दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम से किसी भी तरह के समझौता नहीं करने पर अड़ा था.

यूजीसी ने यह भी कहा था कि आदेश की अवहेलना करने पर दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों को 'कठिन परिणाम' के लिए तैयार रहना चाहिए.

मंगलवार से दिल्ली विश्वविद्यालय में इस साल के दाख़िले शुरू होने थे लेकिन इस विवाद के कारण वह भी टल गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार