डीयू में चार साल का स्नातक कार्यक्रम रद्द

  • 27 जून 2014
इमेज कॉपीरइट DU

दिल्ली विश्वविद्यालय अब तीन वर्षीय डिग्री कोर्स दोबारा शुरू करने के लिए राज़ी हो गया है. डीयू का चार वर्षीय स्नातक (एफवाईयूपी) कोर्स लगातार विवादों से घिरा रहा है.

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर दिनेश सिंह ने एक बयान जारी करके कहा है कि छात्रों के हितों के मद्देनजर विश्वविद्यालय ने ये फैसला किया है.

कुलपति ने कहा है कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी के निर्देशानुसार विश्वविद्यालय ने चार साल का कोर्स खत्म करने का फैसला किया है. इसके बाद अब विश्वविद्यालय में सत्र 2012-13 की कोर्स योजना के तहत ही सभी कॉलेजों में एडमिशन किये जाएंगे.

तीन साल पर सहमति बनने के बाद जल्द ही छात्रों के नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

छात्रों को दाखिले के लिए फिर से आवेदन नहीं करना होगा.

दिल्ली विश्वविद्यालय का बी-टेक का कोर्स चार साल का ही रहेगा.

विवाद

चार वर्षीय डिग्री कोर्स को लेकर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के हस्तक्षेप और कड़े रुख के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय विवाद को सुलझाने पर राजी हुआ.

इमेज कॉपीरइट DU

यूजीसी ने पिछले दिनों दिल्ली विश्वविद्यालय को पत्र लिखकर छात्रों को तीन वर्षीय डिग्री कोर्स में दाखिला देने का निर्देश दिया था.

चार वर्षीय कोर्स का विरोध छात्र संगठनों के अलावा शिक्षकों का एक वर्ग भी कर रहा था. पिछले कुछ दिनों से इसे लेकर तमाम प्रदर्शन हुए थे.

अब हर ऐसे छात्र का ऑनर्स कोर्स में दाखिला किया जाएगा, जो तीन वर्ष का पाठयक्रम चाहते हैं.

छात्रों को नए नामांकन के लिए फिर से पंजीकरण या आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी. आवेदनों में दर्ज किए गए कोर्स के अनुसार जल्द ही नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

माना जा रहा है कि तीन साल के पिछले कोर्स को लागू करने में काफी प्रक्रियागत मुश्किलें है, इसलिए मौजूदा चार वर्षीय कोर्स को ही बदलकर तीन वर्ष किया जाएगा.

जो छात्र तीन साल के बाद ऑनर्स की डिग्री चाहते हैं, उन्हें ऑनर्स डिग्री दी जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार