झारखंडः गोलीबारी में दो मौतें, कथित नक्सली गिरफ़्तार

कथित नक्सली इमेज कॉपीरइट

झारखंड के नक्सल प्रभावित खूंटी ज़िले के एक ग्रमीण हाट में कथित नक्सलियों की गोलाबारी में दो लोग मारे गए हैं.

पुलिस का कहना है कि कथित नक्सली संगठन पीएलएफआइ ने अड़की थाना क्षेत्र के बीरबांकी गांव में लगे साप्ताहिक हाट में गोलियां चलाई है.

प्रवक्ता ने बताया है कि इस घटना में विश्राम मुंडा और गोपाल मुंडा नामक दो लोग मारे गए हैं.

इनके अलावा आगजनी की घटना में एक गाड़ी भी जल गई है.

पुलिस के मुताबिक मारे गए दोनों व्यक्ति संदिग्थ गतिविधियों में संलिप्त थे और लेवी वसूलने और हथियार आपूर्ति करने का काम करते थे.

खूंटी के एसपी ने कहा है कि मारे गए लोगों के शव बरामद नहीं किए जा सके हैं.

कथित नक्सली गिरफ़्तार

झारखंड के एक अन्य नक्सल प्रभावित ज़िले लातेहर में पुलिस ने एक कथित हथियारबंद समूह को गिरफ़्तार किया है. इसमें आठ लोग शामिल हैं. पुलिस का दावा है कि पकड़े गए सभी लोग कथित नक्सली संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद ( जेजेएमपी) से जुड़े हैं.

लातेहार के आरक्षी अधीक्षक माइकल राज एस के मुताबिक हथियारबंद समूह को लातेहार थाना क्षेत्र के नवारी गांव के पास से पकड़ा गया है. ये लोग वहां पर कैंप लगाकर रह रहे थे.

ज़िला पुलिस और अर्द्ध सैनिक बलों ने मुठभेड़ के दौरान इन लोगों को गिरफ़्तार किया.

छानबीन में पता चला है कि ये लोग झारखंड के पलामू, लातेहार, गुमला और लोहरदगा ज़िलों के रहने वाले हैं.

इमेज कॉपीरइट

हथियार बरामद

पुलिस के मुताबिक कथित नक्सलियों से बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं जिनमें कुछ आधुनिक हथियार भी हैं.

पुलिस का दावा है कि बरामद हथियारों में पुलिस से लूटी गईं तीन राइफ़लें भी शामिल हैं.

पुलिस का कहना है कि यह समूह काफ़ी दिनों से इस इलाक़े में सक्रिय था और लेवी वसूलने में लिप्त था. मोहन उर्फ़ आलोक इस दस्ते का नेतृत्व करते रहे हैं.

एक मारा गया

एक अन्य घटना के बारे में पुलिस ने जानकारी दी है कि लातेहार जिले के हेरहंज थाना क्षेत्र में कथित हथियारबंद दस्ता टीपीसी और जेजेएमपी के बीच आपसी मुठभेड़ में जेजेएमपी का एक सदस्य मारा गया है.

पुलिस का दावा है कि दोनों हथियार बंद दस्तों के बीच वर्चस्व की लड़ाई का यह नतीजा है.

मारे गए संदिग्ध का नाम अमन अंसारी बताया गया है. वे पलामू के सतबरवा थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं.

संकेत

गौरतलब है कि पिछले 25 जून को भारत सरकार के सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार ने झारखंड नक्सली प्रभावित विभिन्न ज़िलों में पुलिस और प्रशासन के आला अफ़सरों के साथ कथित नक्सलियों के खिलाफ़ चलाए जा रहे अभियान और सुरक्षा के मामलों पर बैठकें की थी.

उन्होंने कई निर्देश भी दिए थे. समझा जा रहा है कि पुलिस ने इसी दिशा में अभियान तेज किए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार