रोज़ 92 बलात्कार, दिल्ली सबसे ख़तरनाक

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत में रोज़ 92 बलात्कार के मामले दर्ज होते हैं. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के मुताबिक़ भारत की राजधानी दिल्ली में प्रति लाख महिलाओं में बलात्कार के मामलों की दर देशभर में सबसे ज़्यादा है.

ब्यूरो के आंकड़ों के हिसाब से 2013 में दिल्ली में बलात्कार के 1636 मामले दर्ज हुए.

दिल्ली में महिलाओं की कुल संख्या 87 लाख 80 हज़ार है और इस हिसाब से साल 2013 में यहां बलात्कार के मामलों की दर 18.63 दर्ज हुई.

साल 2013 में पूरे भारत में बलात्कार के कुल 33707 केस दर्ज हुए. इनमें 4.85 फ़ीसदी दिल्ली के थे.

ज़ाहिर है, ये आंकड़े उन मामलों के हैं, जो थानों में दर्ज किए गए.

मगर भारत में बलात्कार के बहुत से मामले पुलिस थानों तक नहीं पहुंच पाते.

मिज़ोरम और सिक्किम

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े बताते हैं कि दिल्ली के बाद दूसरे स्थान पर मिज़ोरम है, जहां बलात्कार के मामलों की दर 17.8 है.

इमेज कॉपीरइट AP

अहम बात यह है कि पूरे राज्य में महिलाओं की आबादी सिर्फ़ पांच लाख ही है.

इस सूची में तीसरे स्थान पर सिक्किम है, जहां प्रति लाख महिलाओं पर बलात्कार के मामलों की दर 14.58 दर्ज हुई.

यहां भी महिलाओं की आबादी सिर्फ़ दो लाख 95 हज़ार है.

बलात्कार मामलों में कई साल से ऊपर चल रहे मध्य प्रदेश में इस साल भी सबसे ज़्यादा 4335 केस दर्ज हुए हैं, मगर प्रति लाख महिलाओं के हिसाब से दर कम है- 12.11.

मध्य प्रदेश में क़रीब तीन करोड़ 58 लाख महिलाएं हैं.

ब्यूरो के पिछले साल यानी 2012 के आंकड़े कुछ और ही कहानी कहते हैं.

इनके मुताबिक़ एक साल पहले प्रति एक लाख महिलाओं में सबसे ज़्यादा बलात्कार मामलों की दर मिज़ोरम में थी- 20.81. जबकि राजधानी दिल्ली में कथित बलात्कारों की दर सिर्फ़ 8.26 ही थी.

इस नज़रिए से इस बार मिज़ोरम की हालत सुधरी है पर राजधानी दिल्ली पहले नंबर पर चली गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार