खुला प्याज़ की क़ीमत का राज़

प्याज

दिल्ली की आज़ादपुर सब्ज़ी मंडी एशिया की सबसे बड़ी सबसे मंडियों में से एक है. प्याज़ के बढ़ते दामों की गुत्थी सुलझाने बीबीसी संवाददाता मंडी पहुंचे.

वहां उन्होंने पाया की प्याज़ किसान तो सात से आठ रुपए प्रति किलो बेचता है. पर आपकी प्लेट तक आते-आते वो 35-40 रुपए किलो तक हो जाता है.

बुरे मौसम के अलावा प्याज़ के व्यापारी मीडिया की ख़बरों को भी ज़िम्मेदार बताते हैं.

प्याज़: कभी ये हंसाए, कभी ये रुलाए

कैसे बढ़ती है प्याज़ की क़ीमत

किसान ने बेचा - 8 से 9 रुपए प्रति किलो

माल भाड़ा - 3.5 रुपए प्रति किलो

मंडी पहुँचते पहुँचते - 13 से 15 रुपए प्रति किलो

खुदरा व्यापारी की ख़रीद - 20 से 25 रुपए प्रति किलो

आम आदमी की ख़रीद - 35 से 40 रुपए प्रति किलो

प्याज़ का पूरा सफ़र आगे पढ़ें

प्याज़ की थोक और खुदरा क़ीमतें लगातार बढ़ रही है. आजादपुर मंडी में प्याज़ प्रति मन यानी प्रति चालीस किलो 700 से 800 रुपए यानी 15 से 20 रुपए प्रति किलो मिल रहा है.

वहीं महाराष्ट्र के नासिक से आने वाला प्याज़ 25 से 30 रुपए प्रति किलो के हिसाब से मिल रहा है.

अब किसानों के रुला रहा है प्याज़

मुख्यतः महाराष्ट्र और राजस्थान से प्याज़ आता है. महाराष्ट्र में प्याज़ की फसल ख़राब होने की वजह से अब राजस्थान से ज़्यादा माल आ रहा है.

आजादपुर मंडी में प्याज़ के थोक विक्रेता मुनीश कपूर पिछले दस साल से प्याज़ बेच रहे हैं.

मीडिया की देन

उनका कहना है कि जितना माल आना चाहिए था उतना आ नहीं पा रहा है.

खुदरा बाजार में प्याज़ की क़ीमत 35 से 40 रुपए प्रति किलो है.

आम लोगों को रुला रहा है प्याज़

आपको प्याज़ बेचने वाले कहते हैं कि प्याज़ की क़ीमतों में उछाल दरअसल मीडिया की देन है.

मीडिया में जब ख़बरें दिखाई जाने लगी कि प्याज़ महंगा बिक रहा है तो महाराष्ट्र और राजस्थान के किसानों ने ज़्यादा मुनाफ़े के लिए माल रोक दिया.

आसमान छूती क़ीमतें

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

बढ़ती कीमतों का दर्द झेलती एक आम गृहिणी अनीता दावर ने 45 रूपए प्रति किलो के हिसाब से प्याज़ ख़रीदा है.

वह कहती हैं, "हम पंजाबी हैं और हमारे हर पकवान में प्याज़ का ज़्यादा इस्तेमाल होता है. अब हम हिसाब से ही प्याज़ खाते हैं."

थोक से लेकर खुदरा तक का सफ़र तय करते-करते प्याज़ की क़ीमतें आसमान छूने लगती हैं.

केंद्र सरकार ने प्याज़ की कालाबाज़ारी और जमाख़ोरी रोकने के लिए प्याज़ के निर्यात का न्यूनतम दर तय किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार