कांग्रेस को झटका, राणे का इस्तीफ़ा

  • 21 जुलाई 2014
नारायण राणे इमेज कॉपीरइट PTI

महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री नारायण राणे ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. सोमवार को उन्होंने मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को अपना इस्तीफ़ा सौंपा.

राणे महाराष्ट्र विधान सभा चुनाव से पहले राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे थे.

हालांकि राणे ने कांग्रेस में बने रहेंगे.

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption नारायण राणे कथित तौर पर महाराष्ट्र में नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे थे.

शिवसेना छोड़ कांग्रेस में आए

नारायण राणे 2005 में शिवसेना छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे.

19 जुलाई को राणे ने कहा था कि अगर प्रदेश कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन नहीं हुआ तो विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ेगा.

वैसे राणे ने इससे पहले भी इस्तीफ़ा दिया था जब उनके बेटे नीलेश राणे रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग लोकसभा सीट से लोकसभा चुनाव हार गए थे. लेकिन तब पार्टी ने उनका इस्तीफ़ा स्वीकार नहीं किया था.

रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नारायण राणे की नाराज़गी के मद्देनज़र मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण समेत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से इस सिलसिले में चर्चा भी की थी लेकिन राणे को मनाने की कोशिशें काम नहीं आईं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार