हिंदुत्व की राजनीति में उबाल क्यों?

  • 25 जुलाई 2014
शिव सेना सांसद इमेज कॉपीरइट PTI

शिवसेना सांसदों पर एक रोज़ा रखे हुए कर्मचारी के मुँह में रोटी ठूँसने का आरोप हो या फिर विश्व हिंदू परिषद नेताओं की मुज़फ़्फ़रनगर को न भूलने की चेतावनी.

बीजेपी के एक विधायक का सानिया मिर्ज़ा को पाकिस्तान की बहू कहना हो या फिर गोवा के मंत्री का बयान कि समर्थन मिला तो नरेंद्र मोदी के जरिए भारत बनेगा हिंदू राष्ट्र.

ये सब हिंदुत्व की राजनीति में एक नए उभार के संकेत हैं. पर केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के आने के तुरंत बाद हिंदुत्ववादियों के तेवर अचानक तीखे क्यों हो रहे हैं? इस पर मोदी सरकार का रवैया क्या है?

इस शनिवार 26 जुलाई को भारतीय समयानुसार शाम साढ़े सात बजे इसी विषय पर बहस होगी बीबीसी इंडिया बोल में.

कार्यक्रम में अपनी बात रखने के लिए मुफ़्त फ़ोन कीजिए 1800-11-7000 या 1800-102-7001 पर.

आप अपनी बात हम तक फ़ेसबुक के ज़रिए भी पहुँचा सकते हैं.

आप हमें इस ई-मेल पर अपना टेलीफ़ोन नंबर भेज सकते हैं - bbchindi.indiabol@gmail.com.