सुषमा की नेपाल यात्रा के बाद मोदी वहाँ जाएँगे

सुषमा स्वराज इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने 3-4 अगस्त को नेपाल के दौरे पर होंगे. नेपाल सरकार ने बीबीसी नेपाली सेवा से इस बात की पुष्टि की है.

प्रधानमंत्री मोदी के इस दौरे के मद्देनज़र भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आज नेपाल की राजधानी काठमांडू पहुँच रही हैं और वहाँ तीन दिन तक होंगी.

नेपाल दौरे के दौरान द्विपक्षीय वार्ता को बढ़ावा देने पर उनका ज़ोर होगा.

आठ सालों से अनिश्चितता की शिकार रही नेपाल की अंदरूनी राजनीति पर भी सुषमा स्वराज नेपाल के राजनेताओं से विचार-विमर्श करेंगी.

अहम बिंदु

सुषमा स्वराज की यात्रा इन तीन कारणों से अहम मानी जा रही है:

-नरेंद्र मोदी सरकार के गठन के बाद उनका पड़ोसी देश नेपाल का ये पहला उच्च स्तरीय दौरा होगा. यह नेपाल में स्थाई माने जा रहे सरकार के गठन के बाद दोनों देशों के राजनेताओं के बीच संबंधों को आगे बढ़ाने का पहला अवसर है.

-सुषमा स्वराज के काठमांडू पहुंचने के बाद आधिकारिक रूप से प्रधानमंत्री मोदी की नेपाल यात्रा की तारीख़ की घोषणा की जाएगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

इंद्र कुमार गुजराल आख़िरी प्रधानमंत्री थे जो 1997 में नेपाल के द्विपक्षिय यात्रा पर गए थे. इसके बाद 2002 में अटल बिहारी वायपेयी नेपाल गए थे लेकिन यह द्विपक्षिय यात्रा नहीं थी. वे दक्षेस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने गए थे.

विश्लेषक इसे नेपाल के प्रति मोदी सरकार के सकारात्मक रूख़ की तरह देख रहे हैं.

-26 जुलाई को नेपाल के विदेश मंत्री महेंद्र पांडे के साथ स्वराज की होने वाली संयुक्त आयोग की बैठक 23 साल बाद हो रही है. कई सालों से लंबित पड़े मुद्दों के लिहाज़ से यह ऐतिहासिक बैठक महत्वपूर्ण होगी.

संयुक्त आयोग की बैठक में पांच मसलों पर विचार किया जाएगा.

  • राजनीतिक
  • सीमा सुरक्षा
  • आर्थिक सहयोग
  • आधारभूत संरचना
  • ऊर्जा और जल संसाधन

इसके साथ साथ संस्कृति, शिक्षा और मीडिया जैसे मसलों पर भी विचार विमर्श किया जाएगा.

संयुक्त आयोग की बैठक में कुछ अहम समझौतों की भी उम्मीद की जा रही है. इनमें मध्य-पश्चिम नेपाल में 900 मेगावाट पनबिजली के उत्पादन के लिए कारनाली हाइड्रो प्रोजेक्ट, प्रत्यर्पण संधि जैसे मसले में पारस्परिक क़ानूनी सहयोग, बिजली समझौता शामिल होंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार