भारत में इबोला का कोई केस नहीं: हर्षवर्धन

इमेज कॉपीरइट Getty

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक नाइजीरियाई यात्री को इबोला वायरस के संक्रमण के संदेह में राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

लेकिन जांच के बाद उसमें इबोला वायरस की पुष्टि नहीं हुई है.

इसके अलावा गत 9 अगस्त को चेन्नई पहुंचे दो अफ्रीकी यात्रियों के भी स्वास्थ्य में अब सुधार है.

27 वर्षीय गिनी के नागरिक और लाइबेरिया से आने वाले 40 वर्षीय एक व्यक्ति को इबोला वायरस के संक्रमण के संदेह में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल में उनकी हालत ठीक है और दोनों ही डॉक्टरों की निगरानी में हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पश्चिम अफ्रीका में इबोला वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते देश के कई जगहों पर निगरानी की व्यवस्था की गई है जिसके अच्छे परिणाम मिल रहे हैं.

स्वास्थ्य इमरजेंसी

इमेज कॉपीरइट PIB

गत 8 अगस्त को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जन स्वास्थ्य इमरजेंसी की घोषणा की थी.

इसके तुरंत बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसके लिए निगरानी बढ़ा दी. साथ ही चौबीस घंटे की एक हेल्पलाइन सेवा भी शुरू कर दी गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन के निर्देश पर सोमवार को स्वास्थ्य सचिव लव वर्मा ने स्वास्थ्य, गृह, विदेश और उड्डयन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर बैठक की.

बैठक में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारी भी शामिल थे.

स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने ज़ोर देकर कहा है कि भारत में इबोला वायरस का कोई मामला सामने नहीं आया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार