वॉट्सऐप के जाल में फँसे पांच पुलिस वाले

दिल्ली पुलिस हेल्पलाइन इमेज कॉपीरइट

दिल्ली पुलिस के हाल में जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर मिली शिकायत के बाद पांच पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच चल रही है.

इस हेल्पलाइन को छह अगस्त को लॉन्च किया गया था और अब तक इस पर 3700 से अधिक वॉट्सऐप मैसेज आए जबकि 622 से भी ज़्यादा कॉल हुई हैं.

अधिकारियों का कहना है कि उन्हें भ्रष्टाचार से जुड़े दो वीडियो और तीन ऑडियो मैसेज मिले हैं और इन मामलों की जांच की जा रही है.

दिल्ली पुलिस की उपायुक्त सिंधू पिल्लई ने बीबीसी को बताया कि दो मामलों में पांच पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ जांच शुरू कर दी गई है और उन्हें निलंबित कर दिया गया है.

एक वीडियो में एक एएसआई को 400 रुपए रिश्वत लेते दिखाया गया है जबकि ऑडियो रिकॉर्डिंग में चार पुलिसकर्मी एक दुकानदार से रिश्वत की मांग कर रहे हैं.

शिकायतें

पिल्लई ने कहा कि अब तक जो मैसेज मिले हैं उनमें अधिकांश लोगों ने इस ऐप सर्विस के बारे में जानकारी मांगी लेकिन कुछ शिकायतें भी मिली हैं.

उन्होंने कहा, "जब हमें कोई वीडियो और ऑडियो क्लिप मिलता है तो हम शिकायतकर्ता को अपने दफ़्तर बुलाते हैं और उससे लिखित शिकायत देने को कहते हैं."

पिल्लई ने कहा कि रिकॉर्डिंग की फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी को भेजी जाती है ताकि इसकी सत्यता की पुष्टि की जा सके.

वॉट्सऐप भारत में बेहद लोकप्रिय है. यह ऐप एप्पल, एंड्रॉइड और ब्लैकबेरी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है और बेहद सस्ती है.

दुनियाभर में क़रीब 50 करोड़ लोग इस ऐप का उपयोग करते हैं. अनुमान है कि इसके लगभग पांच करोड़ उपभोक्ता भारत में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार