उत्तराखंड: बाढ़-ओलों से 17 की मौत

उत्तराखंड, पौड़ी इमेज कॉपीरइट Ajay Rawat
Image caption पौड़ी के पास कांसखेत के नौली गांव में भूस्खलन के बाद मलबे में ज़िंदगी की तलाश की जा रही है.

उत्तराखंड में कई जगहों पर भीषण बारिश, भूस्खलन और ओलों से कम से कम 17 लोगों के मरने की ख़बर है.

14 अगस्त की रात से जारी बारिश ने राज्य के कई इलाक़ों में कहर बरपाया है. राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के मुताबिक़ अकेले पौड़ी ज़िले के चार गांवों में 14 लोगों की जान ले ली है.

कई पशु बहे हैं, मकान और खेत ज़मींदोज़ हो गए हैं. दो लोग देहरादून में और एक पिथौरागढ़ ज़िले में मारा गया है.

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा, ''ज़िलाधिकारियों को प्रभावित क्षेत्रों में युद्धस्तर पर राहत और बचाव कार्य के निर्देश दिए गए हैं. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ़ की टीमें रवाना कर दी गई हैं.''

सड़कों पर लगातार मलबा आ रहा है. चार धाम यात्रा मार्ग भी जगह-जगह अवरुद्ध है.

इमेज कॉपीरइट Ajay Rawat

मौसम विभाग के निदेशक आनंद शर्मा ने बताया, ''24 घंटों के लिए राज्य में एडवाइज़री जारी की गई है. देहरादून, पौड़ी, चंपावत, टिहरी और पिथौरागढ़ में ख़ासतौर पर भारी बारिश के आसार हैं.

राजधानी देहरादून में भी बरसाती नदियां उफान पर हैं. कई इलाक़ों में घरों के भीतर पानी घुस गया है और लोगों को काफ़ी दिक्कत हुई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार