ममता का सिंगापुर दौराः क्या लेकर लौटेंगी

  • 18 अगस्त 2014
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इमेज कॉपीरइट PTI

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सोमवार से सिंगापुर के पाँच दिनों की यात्रा पर हैं. उनके दौरे पर सियासी से लेकर कारोबारी हलकों तक में नजर रखी जा रही है.

ममता का दौरा इस लिहाज से अहम है कि सिंगापुर पश्चिम बंगाल का फिलहाल सबसे बड़ा विदेशी निवेशक है. चांगी एयरपोर्ट पश्चिम बंगाल के बर्दमान जिले में एक एयरपोर्ट सिटी बना रही है.

यूनीवर्सल सक्सेस ग्रुप पश्चिम बंगाल में पैसा लगाने वाली दूसरी सबसे बड़ी विदेशी कंपनी है. यही कंपनी नंदीग्राम में पेट्रोकेमिकल का कारखाना लगाना चाहती थी लेकिन इसके खिलाफ वहां जबर्दस्त आंदोलन हुआ था.

लोगों का ये कहना था कि कंपनी को उपजाऊ जमीन दी जा रही है. ममता बनर्जी ने खुद ही इस आंदोलन का नेतृत्व किया था.

नंदीग्राम में ये कारखाना नहीं बन सका लेकिन यूनीवर्सल सक्सेस ग्रुप का पश्चिम बंगाल में कई बड़ी परियोजनाएँ चल रही हैं.

बीबीसी बांग्ला सेवा के कोलकाता संवाददाता अमिताभ भट्टासाली ने ममता के सिंगापुर दौरे से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर रोशनी डाली है.

सिंगापुर दौरा

इमेज कॉपीरइट AFP

राजनीतिक हलकों में ये बात कही जा रही है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद से निवेशकों को बुलाने के लिए ममता बनर्जी पहली बार विदेश दौरे पर गई हैं.

कुछ समय पहले ऐसा ही एक प्रस्ताव अमरीका की ओर से भी आया था जिसे ममता बनर्जी ने स्वीकार नहीं किया. बांग्लादेश ने भी उन्हें ढाका आने का निमंत्रण दिया था लेकिन इस न्यौते को ममता ने तवज्जो नहीं दी.

ममता कहीं नहीं गईं पर उन्होंने सिंगापुर को चुना. पाँच दिनों के दौरे पर वे वहाँ के प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री से मिलेंगी. सरकारी सूत्रों के अनुसार उनकी प्राथमिकता बंगाल के इनफॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी और आईटी सेक्टर के लिए रहेगी.

वे वित्तीय कारोबार से जुड़ी कंपनियों को भी कोलकाता में आकर निवेश करने के लिए मनाने की कोशिश करेंगी. इसके अलावा ममता मनोरंजन और एम्यूज़मेंट पार्क इंडस्ट्री पर भी खासा जोर दे रही हैं.

वे सिंगापुर के एम्यूज़मेंट पार्कों का भी दौरा करेंगी. उनके साथ जा रहे प्रतिनिधिमंडल में फिल्म निर्माता, अभिनेता, रियल एस्टेट डेवलपर और उद्योगपति भी जा रहे हैं.

विवाद

इमेज कॉपीरइट PTI

उनके बिजनेस डेलीगेशन में तीन ऐसे लोग भी हैं जिनको लेकर मीडिया में चर्चा हो रही है. दो साल पहले कोलकाता के एमआरआई हॉस्पीटल में आग लगने के कारण 90 लोगों की मौत हो गई थी.

इसी अस्पताल के तीन निदेशक ममता बनर्जी के साथ जा रहे हैं जिनके खिलाफ बंगाल की अदालतों में चार्जशीट दाखिल हो चुकी है.

राज्य सरकार उनके खिलाफ केस लड़ रही है लेकिन मुख्यमंत्री ऐसे तीन लोगों को अपने साथ ले कर जा रही हैं.

ममता के विदेश दौरे को लेकर राजनीतिक हलकों में भी चर्चा है. भाजपा से लेकर वाम मोर्चे तक में उनका एक तरह से मजाक ही उड़ाया जा रहा है.

राजनीतिक विरोधियों का कहना है कि उनके जाने से कुछ खास होने वाला नहीं है. उद्योगपति भी ऐसा ही सोच रहे हैं कि ममता के सिंगापुर दौरे से किसी तरह का निवेश होने वाला है या नहीं.

(बीबीसी संवाददाता समीरात्मज मिश्र से बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्वीटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार