वार्ता रद्द करना अलोकतांत्रिक: गिलानी

कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के पाकिस्तान के साथ विदेश सचिव स्तर की बातचीत रद्द करने के एक दिन बाद मंगलवार को भी कश्मीर के अलगाववादी नेताओं की पाकिस्तानी उच्चायुक्त के साथ मुलाक़ात जारी रही.

मंगलवार को हुर्रियत कॉन्फ़्रेंस के वरिष्ठ नेता सैयद अली शाह गिलानी और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के अध्यक्ष यासिन मलिक भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित से मिले.

हालांकि अभी ये स्पष्ट नहीं है कि इन मुलाक़ातों में क्या बातचीत हुई.

सोमवार को एक अन्य कश्मीरी अलगाववादी नेता शब्बीर शाह, अब्दुल बासित से मिले थे.

उच्चायुक्त से मुलाक़ात से पहले नई दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में सैयद गिलानी ने भारत के विदेश सचिव स्तरीय वार्ता रद्द करने के फ़ैसले की निंदा की और कहा कि ये अलोकतांत्रिक फ़ैसला था.

गिलानी ने कहा, "हम बातचीत के लिए कई बार पाकिस्तानी दूतावास आते रहे हैं. जम्मू कश्मीर का मुद्दा एक अंतरराष्ट्रीय मुद्दा है और उसका हल निकलना चाहिए. जब तक हमसे किए गए वायदे पूरे नहीं किए जाते, ये मामला नहीं सुलझेगा."

इमेज कॉपीरइट AFP

बीते लगभग दो दशकों में कई बार कश्मीरी अलगाववादी नेताओं ने पाकिस्तानी अधिकारियों से मुलाक़ात की है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार