मुंबई में कई घंटे बत्ती गुल

फ़ाइल फ़ोटो

भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में मंगलवार को कई घंटे बिजली आपूर्ति ठप रहने से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा.

मुंबई को बिजली आपूर्ति करने वाली कंपनी टाटा पावर की 500 मेगावाट इकाई में ख़राबी आने के कारण यह समस्या हुई.

टाटा पावर ने बयान जारी कर कहा कि एक पावर स्टेशन में खराबी से सेंट्रल मुंबई और कुछ उपनगरीय इलाकों में सुबह 9 बजकर 45 मिनट पर बिजली आपूर्ति बाधित हुई.

टाटा पावर बृहनमुंबई इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई और ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (बेस्ट) को बिजली आपूर्ति करती है, जबकि उपनगरीय इलाके में बिजली सप्लाई का ज़िम्मा रिलायंस एनर्जी का है.

बिजली संकट

जुलाई 2012 में ग्रिड फेल होने से उत्तर भारत में बिजली संकट खड़ा हो गया था और लगभग 30 करोड़ लोग प्रभावित हुए थे.

मुंबई में व्यस्त घंटों में लगभग 3200 मेगावाट बिजली की खपत होती है. आमतौर पर ये व्यस्त घंटे सुबह सात बजे से दोपहर 11 बजे और शाम को 5 बजे से 8 बजे तक होते हैं.

मुंबई के स्थानीय पत्रकार अश्विन अघोर ने बताया कि दादर, परेल, महालक्ष्मी, धारावी इलाकों में बिजली गुल रही.

उन्होंने बताया कि अधिकतर इलाकों में शाम 4 बजे तक ही बिजली आपूर्ति सुचारू हो सकी.

भारत में अधिकतर बिजली उत्पादन कोयले से होता है. केंद्र ने सोमवार को कोयला ब्लॉक आवंटन मामले में सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि अगर संभव हो तो वह ऐसे 40 ब्लॉक्स छोड़ दे, जिनसे अभी कोयला उत्पादन हो रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार