बदायूं कांड: अभियुक्तों को मिली ज़मानत

इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर प्रदेश के बदायूं में दो बहनों के साथ हुए सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में तीन अभियुक्तों को ज़मानत मिल गई है.

पप्पू यादव और उसके भाई अवधेश यादव और उर्वेश यादव इस मामले में गिरफ़्तार किए गए थे. इनमें से प्रत्येक को दो-दो लाख रुपये की ज़मानत लेनी पड़ी.

बदायूं के पुलिस अधीक्षक मानसिंह चौहान ने बताया कि बृहस्पतिवार को तीनों अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के 90 दिन पूरे हो गए और सीबीआई ने अभियुक्तों के ख़िलाफ़ कोई चार्जशीट दाख़िल नहीं की और ना ही उन्हें रिमांड पर लेने की कोई दरख़्वास्त दी.

ज़मानत की अर्ज़ी मंज़ूर होने के बावजूद अभी सभी अभियुक्तों की जेल से रिहाई में वक़्त लगेगा क्योंकि ज़मानत के लिए जमा किए गए आर्थिक विवरण की जांच में थोड़ा समय लगता है.

आरोप

इन तीनों पर आरोप था कि इन्होने दोनों बहनो के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या करने के बाद उनके शवों को पेड़ से लटका दिया था.

घटना बदायूं के कटरा सआदतगंज गाँव की थी.

पुलिस कांस्टेबल सर्वेश यादव और छत्रपाल गंगवार की ज़मानत अर्ज़ी एक सितम्बर को मंज़ूर कर ली गई.

उत्तर प्रदेश पुलिस की तरह सीबीआई को भी शक है कि ये हत्याएं परिवार के सम्मान के लिए की गई थीं.

संबंधित समाचार