कश्मीरः बाढ़ के कारण टल रही हैं शादियां

कश्मीर बाढ़ इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir

श्रीनगर की हमदनिया कॉलोनी के रहने वाले ग़ुलाम नबी की बेटी की शादी चार और पांच सितम्बर को तय थी लेकिन जिस दिन मेहमान शादी में आने वाले थे उस दिन उनके घर में पानी भरा था.

ग़ुलाम नबी को बेटी की शादी फ़िलहाल टालनी पड़ी है.

वो कहते हैं, "मेरी बेटी की शादी चार और पांच सितम्बर को होनी थी. दो सितम्बर से ही कश्मीर में बारिश शुरू हो गई लकिन ये आशंका नहीं थी कि इस क़दर बाढ़ आएगी.”

इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir

वो कहते हैं, "मेहमानो के लिए खाने पीने की जितनी भी चीज़ लाए थे, सब ख़राब हो चुकी हैं. मैं एक ग़रीब इंसान हूँ. अब फिर से इन चीज़ों की व्यवस्था करना मेरे लिए मुश्किल है.”

ग़ुलाम नबी के मोहल्ले में और भी कुछ घरों में शादियों की तारीख़ तय थी लेकिन बाढ़ के हालात को देखते हुए उन्हें भी फ़िलहाल टाल दिया गया.

घाटी में प्रकाशित होने वाले अख़बारों में विज्ञापनों के ज़रिए शादियाँ टलने की सूचनाएं दी जा रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir

कश्मीर घाटी में अगस्त और सितंबर के महीने में सब से ज़्यादा शादियां होती हैं.

जम्मू कश्मीर में अब तक बाढ़ से 160 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)